NDTV Khabar

आर्थिक पैकेज में पूंजीगत व्यय बढ़ाने पर ध्यान हो : पूर्व गवर्नर सी. रंगराजन

उन्होंने कहा कि विकास दर में गिरावट के साथ निवेश दर में गिरावट आई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आर्थिक पैकेज में पूंजीगत व्यय बढ़ाने पर ध्यान हो : पूर्व गवर्नर सी. रंगराजन

पूर्व गवर्नर सी. रंगराजन(फाइल फोटो)

खास बातें

  1. रंगराजन ने कहा, 'ज्यादा गंभीर बात यह है कि निजी निवेश गिरा है.
  2. उन्होंने कहा कि विकास दर में गिरावट के साथ निवेश दर में गिरावट आई है.
  3. कई परियोजनाएं रुकी हुई हैं.
नई दिल्ली: पूर्व गवर्नर सी. रंगराजन ने देश की अर्थव्यवस्था पर कहा कि विकास दर में गिरावट के साथ निवेश दर में भी गिरावट आई है. भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर सी. रंगराजन ने शुक्रवार को कहा कि जिस पैकेज से सरकार अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करना चाहती है, उसमें आंशिक तौर पर पूंजीगत व्यय बढ़ाने की बात होनी चाहिए और निजी निवेश बढ़ने के रास्ते की बाधाओं पर ध्यान देना चाहिए. एसोचैम द्वारा आयोजित 10वें अंतर्राष्ट्रीय स्वर्ण शिखर सम्मेलन से इतर रंगराजन ने संवाददाताओं से कहा, 'मेरी राय में पैकेज का इस्तेमाल सरकार के पूंजीगत व्यय को आंशिक तौर पर बढ़ाने के लिए होना चाहिए, लेकिन जिस भी तरह से यह निजी निवेश को बढ़ावा दे, वही उपयुक्त तरीका होगा.'

उन्होंने कहा कि विकास दर में गिरावट के साथ निवेश दर में गिरावट आई है.

यह भी पढ़ें : सीना ठोकने से पहले दस साल तक भारत को आठ से 10 प्रतिशत वृद्धि हासिल करनी चाहिए : रघुराम राजन

टिप्पणियां
रंगराजन ने कहा, 'ज्यादा गंभीर बात यह है कि निजी निवेश गिरा है. वास्तविकता यह है कि पूंजी पर सार्वजनिक व्यय में कुछ मामूली वृद्धि हुई है. इसलिए सबसे महत्वपूर्ण मुद्दा उन समस्याओं के समाधान का है, जो निजी निवेश को बढ़ने से रोक रही हैं.'


VIDEO : बंद किए गए 500 और 1000 के 99% नोट वापस लौटे​
उन्होंने सुझाव दिया कि दो चीजें की जा सकती हैं. कई परियोजनाएं रुकी हुई हैं, यह सुनिश्चित किया जाए कि रुकी परियोजनाएं सक्रिय हों. दूसरा, बैंकिंग प्रणाली को पुनर्पूजीकरण की जरूरत है, ताकि निवेश के लिए अतिरिक्त कर्ज उपलब्ध कराया जा सकें. (इनपुट आईएएनएस से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement