बिहार को मिले 8,101 करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव

नई दिल्ली:

बिहार में उद्योगों को प्रोत्साहन दिए जाने और एकल खिड़की मंजूरी सुविधा शुरू होने के बाद से विभिन्न औद्योगिक क्षेत्रों में 8,101 करोड़ रुपये के 767 निवेश प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं।

राज्य की उद्योग मंत्री रेणु कुमारी ने 33वें भारतीय अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले (आईआईटीएफ 2013) के उद्घाटन समारोह के दौरान यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि राज्य में वर्ष 2006 में उद्योगों को एकल खिड़की मंजूरी सुविधा उपलब्ध कराए जाने के बाद राज्य में औद्योगिक गतिविधियों में तेजी आई है।

बिहार को व्यापार मेले में भागीदार राज्य बनाया गया है। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने व्यापार मेले का उद्घाटन किया। रेणु कुमारी ने कहा कि राज्य में औद्योगिक प्रोत्साहन की अनेक योजनाएं शुरू की गई हैं। राज्य सरकार की तरफ से नई इकाइयों को कई तरह के प्रोत्साहन दिए जा रहे हैं। इसके बाद गत पांच साल के दौरान 189 नई इकाइयां काम कर रहीं हैं और 184 इकाइयों में कार्य प्रगति पर है।  उन्होंने कहा कि राज्य में खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र सहित कुल मिलाकर 767 निवेश प्रस्ताव प्राप्त हुए, जिनमें 8,101 करोड़ रुपये के निवेश का अनुमान है। इसमें से अब तक राज्य में 1,212 करोड़ रुपये का निवेश हो चुका है।

रेणु कुमारी ने इस अवसर पर कहा कि राज्य में कृषि क्षेत्र को भी बढ़ावा दिया जा रहा है और अलग कृषि मंत्रिमंडल का अलग गठन किया गया है। वर्ष 2011-12 के लिए राज्य को 'कृषि कर्मण' पुरस्कार भी प्राप्त हुआ है। यही वजह है कि इसके चलते पिछले तीन साल से राज्य की वृद्धि दर 13 प्रतिशत से अधिक रही है। आईआईटीएफ 2013 में बिहार मंडप में कृषि, स्वास्थ्य, नगर विकास, ऊर्जा, सूचना एवं प्रौद्योगिकी, उद्योग तथा पर्यटन विभाग की और से समावेशी विकास को बेहतर ढंग से दिखाया गया है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com