NDTV Khabar

कालेधन के खिलाफ पीएम मोदी की लड़ाई को एसबीआई की शाखा ने इस तरह पहुंचाया भारी नुकसान

19 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
कालेधन के खिलाफ पीएम मोदी की लड़ाई को एसबीआई की शाखा ने इस तरह पहुंचाया भारी नुकसान

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  1. एक शाखा में 31 दिसंबर तक काले धन को ठिकाने लगाने के लिये फर्जी खाते खोले
  2. 2000 नये बैंक खाते खोले गए .
  3. इनमें कम से कम आठ करोड़ रुपये मूल्य के पुराने नोट जमा कराये गए.
नई दिल्ली: सीबीआई जांच में सामने आया कि नोटबंदी के बाद बरेली में भारतीय स्टेट बैंक की एक शाखा में 31 दिसंबर तक काले धन को ठिकाने लगाने के लिये करीब 2000 नये बैंक खाते खोले गए और इनमें कम से कम आठ करोड़ रुपये मूल्य के पुराने नोट जमा कराये गए.

सीबीआई ने अब इस मामले में अज्ञात बैंक अधिकारियों और अज्ञात लोगों के खिलाफ आपराधिक साजिश, धोखाधड़ी और भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया है. सूत्रों की जानकारी के आधार पर सीबीआई ने उत्तर प्रदेश के बरेली में 2 जनवरी को स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की सिविल लाइंस शाखा में औचक निरीक्षण किया था.

इस दौरान सीबीआई ने पाया कि पिछले साल आठ नवंबर को नोटबंदी के एलान के बाद बैंक में भारी मात्रा में नकदी जमा करायी गई. ये रकम नये खोले गये खातों और फिर से शुरू किये गये निष्क्रिय खातों में डाली गई.

सीबीआई ने पाया कि पिछले साल 8 नवंबर से 31 दिसंबर के बीच बैंक अधिकारियों ने 2,441 नए खाते खोले थे. इन खातों में से 667 बचत खाते, 53 चालू खाते, 94 जनधन खाते, 50 पीपीएफ, 1,518 फिक्स डिपॉजिट, 13 उत्सव अकाउंट, दो वरिष्ठ नागरिक खाता और एक सरकारी अकाउंट था.

जांच में पाया गया कि बैंक में 794 मौके ऐसे थे जब एक लाख से ज्यादा की नकद रकम जमा करायी गयी. कुछ मामलों में भारी नकदी भी जमा करायी गयी लेकिन सूत्रों ने इन खातों की जानकारी देने से इनकार कर दिया.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement