जियो को टक्कर देगी बीएसएनएल, नए साल में 149 रुपये के मासिक प्लान पर 'फ्री वॉइस कॉल'

जियो को टक्कर देगी बीएसएनएल, नए साल में 149 रुपये के मासिक प्लान पर 'फ्री वॉइस कॉल'

खास बातें

  • किसी भी नेटवर्क में 'फ्री वॉइस कॉल' एवं कुछ डाटा देने की योजना
  • नया मंथली 'टैरिफ प्लान' एक जनवरी से पेश किए जाने की उम्मीद
  • लैंडलाइन फोन सेक्टर में भी कंपनी कर रही है फोकस
भोपाल:

भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) ने रविवार को कहा कि वह अपने मोबाइल ग्राहकों के लिए अगले माह से 149 रुपये या इससे कम पैसे प्रतिमाह 'टैरिफ प्लान' पर किसी भी नेटवर्क में 'फ्री वॉइस कॉल' एवं कुछ डाटा देने की योजना बना रही है.

सूत्रों ने बताया कि सरकारी टेलीकॉम कंपनी बीएसएनएल का यह नया मंथली 'टैरिफ प्लान' एक जनवरी से पेश किए जाने की उम्मीद है. इससे बीएसएनएल को रिलायंस इंडस्ट्रीज की टेलीकॉम इकाई रिलायंस जियो इंफोकॉम से मुकाबला करने में मदद मिलेगी, जिसकी एंट्री से देश की टेलीकॉम कंपनियों के लिए चुनौती बढ़ गई है.

बीएसएनएल के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक अनुपम श्रीवास्तव ने बताया, "हमने बीएसएनएल के मोबाइल फोन ग्राहकों को अगले महीने से 149 रुपये  या इससे कम पैसे प्रति माह टैरिफ प्लान पर किसी भी नेटवर्क में फ्री अनलिमिटेड लोकल और एसटीडी वॉइस कॉल एवं कुछ डाटा देने की शुरआत करने की योजना बनाई है."
 
उन्होंने कहा, "बीएसएनल का रिवाइवल होना शुरू हो गया है. इसकी वित्तीय स्थिति में जबरदस्त सुधार हुआ है. अब हम 'ऑपरेशनल प्रॉफिट' में हैं."  श्रीवास्तव ने बताया, "हमें उम्मीद है कि वर्ष 2018-19 तक बीएसएनएल शुद्ध लाभ कमाने वाली कंपनी हो जाएगी और उसके बाद हम देश के तीन शीर्ष ऑपरेटरों में शामिल हो जाएंगे."  

श्रीवास्तव ने कहा कि बीएसएनएल द्वारा जो फ्री रोमिंग सुविधा दी गई है, उसके अच्छे परिणाम निकले. इससे मोबाइल ग्राहकों में इजाफा हुआ है. उन्होंने कहा कि बीएसएनएल टेलीकॉम क्षेत्र में पहले नंबर एक पर था. फिर छह पर आ गया और अब हम चौथे पायदान पर पहुंच गए हैं. श्रीवास्तव ने कहा कि देश के मोबाइल सेक्टर में बीएसएनएल का 10 प्रतिशत शेयर है, जिसको बढ़ाकर 15 प्रतिशत की कार्ययोजना पर कार्य किया जा रहा है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उन्होंने बताया कि हम वॉइस मोबाइल सेवा में पिछड़े हैं, लेकिन हम डाटा सेवा उपलब्ध कराने में आगे रहेंगे. उन्होंने कहा कि लैंडलाइन फोन सेक्टर में भी हम फोकस कर रहे हैं, जिसका दूरी दुनिया में आज पुनरत्थान हो रहा है.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)