त्यौहारों के मौसम में प्याज और दाल की कीमतों को नियंत्रित करने की कोशिश में जुटी सरकार

केंद्रीय खाद्य मंत्रालय ने कहा है कि राज्य सरकारें केंद्र के बफर स्टॉक से प्याज अथवा दालों की अपनी मांग के लिए बता सकती हैं

त्यौहारों के मौसम में प्याज और दाल की कीमतों को नियंत्रित करने की कोशिश में जुटी सरकार

प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली:

त्यौहारों के मौसम से ठीक पहले केंद्र सरकार ने सभी राज्य सरकारों से कहा है कि वे प्याज और दाल की कीमतों को नियंत्रित करने के लिए पहल शुरू करें. दिल्ली के विज्ञान भवन में राज्यों के खाद्य मंत्रियों के साथ एक बैठक के दौरान खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने यह बात कही.

बैठक के बाद जारी एक प्रेस रिलीज़ में कहा गया है, "राज्य/संघ शासित क्षेत्रों की सरकारें, कम उपलब्धता वाले मौसम के दौरान कीमतों में नरमी लाने के लिए सहकारिताओं आदि के माध्यम से प्रत्यक्ष खुदरा बिक्री अथवा अपनी-अपनी पीडीएस दुकानों के माध्यम से खुदरा बिक्री के उद्देश्य से केंद्रीय बफर से प्याज और दालों के स्टॉक का उठान कर सकती हैं."

केंद्रीय खाद्य मंत्रालय ने कहा है कि राज्य और संघ शासित क्षेत्रों की सरकारें केंद्र के बफर स्टॉक से प्याज अथवा दालों की अपनी अपनी मांग नेफेड/उपभोक्ता मामले विभाग के सामने रख सकती हैं. फिलहाल केंद्र सरकार के पास 27 लाख टन दाल और 56000 टन प्याज बफर स्टॉक में मौजूद है.  

खाद्य मंत्रालय के पास मौजूद आकड़ों के मुताबिक पिछले एक महीने में दिल्ली में प्याज की औसत खुदरा कीमत 28 रुपये प्रति किलो से बढ़कर 40 रुपये हो गई है. यानी करीब 42 प्रतिशत महंगा. जबकि चंडीगढ़ में पिछले एक महीने में प्याज की औसत खुदरा कीमत 20 रुपये प्रति किलो से बढ़कर 35 रुपये हो गई है, यानी 75 फीसदी महंगा.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com