NDTV Khabar

डेटा लीक समस्या का निदान, डेटा का भंडारण स्थानीय स्तर हो तो बेहतर : सीईआरटी-इन

पांडे ने एक कार्यक्रम में यह बात कही. उन्होंने कहा, हम फेसबुक या गूगल या ऐसी कंपनियों के भारत में आने पर नियंत्रण या रोक नहीं लगा सकते.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
डेटा लीक समस्या का निदान, डेटा का भंडारण स्थानीय स्तर हो तो बेहतर : सीईआरटी-इन

प्रतीकात्मक फोटो

मुंबई: सरकारी साइबर सुरक्षा संस्थान सीईआरटी-इन की निदेशक तूलिका पांडे का कहना है कि लोगों को फेसबुक व गूगल जैसी कंपनियों की सेवाएं लेने से नहीं रोका सकता और उनके हितों की रक्षा का एकमात्र उपाय यही है कि ये कंपनियां सूचनाओं या डेटा का भंडारण स्थानीय स्तर पर करें. कंप्यूटर इमरजेंसी रेस्पोंस टीम (सीईआरटी इन) की निदेशक तूलिका पांडे ने एक कार्यक्रम में यह बात कही. उन्होंने कहा, हम फेसबुक या गूगल या ऐसी कंपनियों के भारत में आने पर नियंत्रण या रोक नहीं लगा सकते.

टिप्पणियां
साथ ही नागरिकों को यह भी नहीं कहा जा सकता कि हमारे पास उनकी उन व्यक्तिगत सूचनाओं की सुरक्षा के लिए पर्याप्त प्रणालियां नहीं हैं जो वे इन साइटों पर खुशी खुशी साझा करते हैं.

उन्होंने कहा, ‘सरकारों के लिए यह बहुत प्रासंगिक हो गया है कि वे अपने नागरिकों के डेटा की किसी भी तरह रक्षा के लिए कम से कम उचित प्रणालियां व नियम बनाएं.’ उल्लेखनीय है कि डेटा लीक प्रकरण के चलते दुनिया की प्रमुख सोशल मीडिया वेबसाइट फेसबुक की हाल ही में काफी किरकिरी हुई है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement