NDTV Khabar

कोल ब्लॉक आबंटन में हुए नुकसान के कैग के अनुमान पर शुरू में शक हुआ था : पीएम मोदी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कोल ब्लॉक आबंटन में हुए नुकसान के कैग के अनुमान पर शुरू में शक हुआ था : पीएम मोदी

नैसकॉम के एक कार्यक्रम में पीएम मोदी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि कोयला ब्लॉक आबंटन में 1.86 लाख करोड़ रुपये का नुकसान होने के कैग के अनुमान को लेकर शुरू में कुछ संदेह हुआ था, लेकिन इनमें से केवल 10 प्रतिशत खानों की नीलामी से ही 1.10 लाख करोड़ रुपये मिलने से अब संदेह नहीं रह गया।

आईटी कंपनियों के संगठन 'नेशनल एसोसियेसन ऑफ साफॅटवेयर एण्ड सविर्सिज कंपनीज (नैसकॉम) के एक कार्यक्रम में मोदी ने कहा कि किसी एक तबके से 'पत्र मिलने के बाद' कोयला ब्लॉक आबंटन की पुरानी व्यवस्था को खत्म करते हुए राजग सरकार ने पारदर्शी ई-नीलामी प्रक्रिया शुरू की जिसके जरिये सभी कोयला ब्लाक की नीलामी की जा रही है।

मोदी ने कहा, 'कुल 204 कोयला ब्लॉक (सुप्रीम कोर्ट द्वारा जिन कोयला ब्लॉक का आवंटन रद्द किया गया) में से केवल 19 की अब तक नीलामी हुई है और हमें 1.10 लाख करोड़ रुपये प्राप्त हुए।'

सरकारी लेखा नियंत्रक कैग ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि यूपीए सरकार के दौरान कोयला ब्लॉक आवंटन से 1.86 लाख करोड़ रुपये का नुकसान होने का अनुमान है। इस रिपोर्ट से कांग्रेस और उसके नेतृत्व वाली यूपीए सरकार के लिए काफी मुश्किले खड़ी हुई।

मोदी ने कहा कि जब कैग ने 1.86 लाख करोड़ रुपये के नुकसान का अनुमान जताया तो हम भी इसपर राजनीतिक रूप से बात करते थे, हमें भी इस पर विश्वास नहीं होता था, लेकिन नीलामी के बाद सभी संदेह दूर हो गए। इस अविश्वास का कारण यह था कि लोग ने इतना बड़ा आंकड़ा पहले कभी देखा नहीं था।

प्रधानमंत्री ने कहा, 'जिन लोगों ने केवल तालाब देखा है वह समुद्र के आकार की कल्पना कैसे कर सकते हैं।' मोदी ने कहा कि उच्चतम न्यायालय द्वारा कोयला ब्लाक का आबंटन रद्द किए जाने के बाद मौजूदा सरकार तीन महीने के भीतर अध्यादेश लाई। उन्होंने कहा कि आधुनिक प्रौद्योगिकी के उपयोग के जरिये नीलामी प्रक्रिया में पारदर्शिता लाई गई।

सुप्रीम कोर्ट द्वारा पिछले साल सितंबर में 204 कोयला ब्लॉक का आबंटन रद्द किए जाने के बाद नीलामी प्रक्रिया शुरू की गई है।

टिप्पणियां

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement