सुधारों के बाद कई कंपनियां कर रही हैं आईपीओ से धन जुटाने की तैयारी

खास बातें

  • शेयर बाजार में निवेशकों के रुख से आकर्षित होकर कंपनियां आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के जरिये धन जुटाने की तैयारी कर रही हैं।
नई दिल्ली:

शेयर बाजार में निवेशकों के रुख से आकर्षित होकर कंपनियां आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के जरिये धन जुटाने की तैयारी कर रही हैं।

पिछले कुछ महीनों में कम से कम पांच कंपनियों ने सेबी के पास आईपीओ के लिए मसौदे का विवरण जमा कराया है। जबकि इतनी ही संख्या में कंपनियों ने कहा कि वे आईपीओ बाजार का फायदा उठाने पर विचार कर रही हैं जिनमें खुदरा शृंखला परिचालक स्पेंसर्स, वीडियोकॉन की सैटेलाइट टीवी ब्रॉडकास्ट सेवा इकाई और टाटा स्काई शामिल हैं।

विशेषज्ञों ने कहा कि हाल के दिनों में सरकार और बाजार नियामकों द्वारा घोषित कई सुधार कार्यक्रमों के मद्देनजर निवेशकों का रुझान बदला है और शेयर बाजार में रुझान बेहतर होने से भी कंपनियों को बाजार में लाने में मदद मिल रही है।

सितंबर तक कैलिक्स केमिकल्स एंड फार्मास्युटिकल्स, मध्य भारत एग्रो प्रोडक्ट्स, एसएमसी ग्लोबल सिक्योरिटीज, भारती इन्फ्राटेल और जीबी टूल्स एंड फोर्जिंग्स ने आईपीओ से जुड़े दस्तावेज सौंपे।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इसके अलावा आरपी-संजीव गोयनका समूह सीईएससी ने कहा कि वह अगले साल तक स्पेंसर्स को सूचीबद्ध करेगी जबकि वीडियोकॉन समूह की वीडियोकान डी2एच और टाटा समूह की टाटा स्काई भी निकट भविष्य में पूंजी बाजार में प्रवेश करने की योजना बना रही है।

ज्यादातर कंपनियों ने आईपीओ द्वारा जुटाए गए धन का उपयोग क्षमता विस्तार और कार्यपूंजी की जरूरत पूरी करने के लिए करने का प्रस्ताव किया है। सेबी प्रमुख यूके सिन्हा ने हाल में कहा था कि नियामक को अर्थव्यवस्था और बाजार के प्रति नया आशावादी रुझान दिख रहा है।