NDTV Khabar

बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर जून में घटकर 0.4 प्रतिशत पर, 19 माह का निचला स्तर

आठ बुनियादी उद्योगों में कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, उर्वरक, इस्पात, सीमेंट और बिजली आते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर जून में घटकर 0.4 प्रतिशत पर, 19 माह का निचला स्तर

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

नई दिल्‍ली:

कोयला, रिफाइनरी उत्पाद, उर्वरक और सीमेंट क्षेत्र का उत्पादन घटने से बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर जून माह में घटकर 0.4 प्रतिशत पर आ गई. यह इसका 19 महीने का निचला स्तर है. आठ बुनियादी उद्योगों में कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, उर्वरक, इस्पात, सीमेंट और बिजली आते हैं. पिछले साल जून में बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर 7 प्रतिशत थी. वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, जून में कोयला उत्पादन 6.7 प्रतिशत घटा, जबकि रिफाइनरी उत्पादों के उत्पादन में 0.2 प्रतिशत की गिरावट आई. उर्वरक उत्पादन 3.6 प्रतिशत और सीमेंट उत्पादन 5.8 प्रतिशत नीचे आया. वहीं माह के दौरान कच्चे तेल के उत्पादन में 0.6 प्रतिशत की वृद्धि हुई. जून, 2016 में यह 4.3 प्रतिशत घटा था. आंकड़ों के अनुसार जून में प्राकृतिक गैस के उत्पादन में 6.4 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई.

समीक्षाधीन महीने में इस्पात उत्पादन की वृद्धि दर घटकर 5.8 प्रतिशत रह गई, जो जून, 2016 में 8.8 प्रतिशत रही थी. इसी तरह बिजली उत्पादन की वृद्धि दर घटकर 0.7 प्रतिशत रह गई, जो एक साल पहले समान महीने में 9.8 प्रतिशत रही थी. बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर घटने का असर औद्योगिक उत्पादन (आईआईपी) में भी दिखेगा.


टिप्पणियां

कुल कारखाना उत्पादन में बुनियादी उद्योगों का हिस्सा 41 प्रतिशत बैठता है. मई में बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर 4.1 प्रतिशत रही थी. इससे पहले नवंबर, 2015 में बुनियादी उद्योगों का उत्पादन 1.3 प्रतिशत गिरा था. चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-जून की तिमाही आठ बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर घटकर 2.4 प्रतिशत पर आ गई है, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 6.9 प्रतिशत रही थी.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement