कोरोना के खतरे ने बाजार की सूरत बदरंग कर दी, दिल्ली के सदर बाजार में सन्नाटा

दिल्ली के सदर बाजार में चीन का सामान और भारत के खरीददार दोनों के गायब होने से कारोबार 40 फीसदी तक कम हो गया

कोरोना के खतरे ने बाजार की सूरत बदरंग कर दी, दिल्ली के सदर बाजार में सन्नाटा

प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली:

होली के वक्त कोरोना वायरस की दहशत ने दिल्ली के सबसे बड़े थोक बाजार की रौनक को फीका कर दिया है. चीन से आने वाला सामान पहले ही ठप पड़ा है ऊपर से खरीददार भी भीड़भाड़ वाली जगहों में जाने से बच रहे हैं. इसके चलते बाजार में सन्नाटा पसरा है.

दिल्ली में 200 से 250 करोड़ रुपये के रोजाना के कारोबार वाले सदर बाजार में सन्नाटा पसरा है. खुद सदर बाजार ट्रेडर्स एसोसिएशन के प्रेसीडेंट राकेश यादव का काम कम हो गया है. इस बाजार में 80 फीसदी सामान चीन का बिकता है लेकिन चीन के सामान और भारत के खरीददार दोनों के गायब होने से कारोबार 40 फीसदी तक कम हो गया है.

राकेश यादव ने कहा कि होली काली हो गई है. 40 फीसदी सामान बिका है, लेकिन यह केवल सामान ट्रांसफर हुआ है. देश के दूसरे हिस्सों में व्यापार नहीं हुआ.

होली का ज्यादातर थोक सामान सदर बाजार से दिल्ली और देश के दूसरे हिस्सों में पहुंचता है. ऐसे ही थोक के कारोबारी कुलविंदर के यहां हम पहुंचे. चीन की पिचकारी और रंग की अंतिम खेप दिसंबर के पहले सप्ताह में आई है. दो महीना बीत गए न तो चीन को कोई नया आर्डर दिया न ही कोई माल बनकर आ रहा है. अब उनके गोदाम में चीन के साथ भारतीय पिचकारी और रंग तो रखे हैं लेकिन खरीददार नहीं हैं.

होलसेलर कुलविंदर सिंह ने कहा कि चीन का सत्तर फीसदी माल आता था अब दिसबंर से कोई कंसाइनमेंट नहीं आई है. पिचकारी का माल अक्टूबर में खरीद रखा था. अब लोग इसे हाथ नहीं लगा रहे हैं कि कहीं कोरोना न हो जाए.

सदर बाजार में करीब 40 हजार व्यापारी हैं और हर दिन दो से ढाई लाख लोग इस बाजार में खरीददारी और बेचने का काम करते हैं. प्रदूषण के चलते दीपावली में कारोबार ज्यादा नहीं हुआ अब होली में कोरोना के खतरे ने बाजार की सूरत ही बदरंग कर दी है.

सदर बाजार ट्रेडर्स ट्रस्ट के अध्यक्ष हरेंदर छाबड़ा ने कहा कि दीपावली में पटाखे का शोर मचाकर पटाखों का भट्टा बैठा दिया अब कोरोना-कोरोना करके भट्टा बैठा दिया. हमारे प्रधानमंत्री ने होली मिलन रद्द कर दिया तो हमने भी अपना रद्द कर दिया.

देश में कोरोना वायरस के दो दर्जन से ज्यादा पीड़ित पाए गए हैं लेकिन अगर ज्यादा दिन इसका प्रभाव रहा तो भी कारोबार बुरी तरह प्रभावित होगा.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com