NDTV Khabar

एयर इंडिया के 130 पायलट और 430 क्रू मेंबर की नौकरी पर खतरा

डीजीसीए क्रू सदस्यों द्वारा सुरक्षा मानकों के कथित उल्लंघन को लेकर पहले ही एयर इंडिया प्रबंधन को अंतिम चेतावनी दे चुका है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एयर इंडिया के 130 पायलट और 430 क्रू मेंबर की नौकरी पर खतरा

एयर इंडिया के जिन स्टॉफ पर गाज गिरने की आशंका है, उनपर आरोप है कि उन्होंने ड्यूटी के दौरान नशा कर रखा था.

खास बातें

  1. एयर इंडिया के 130 पायलट की जा सकती है नौकरी
  2. 430 क्रू मेंबर की नौकरी जाने का भी खतरा
  3. इन्होंने ड्यूटी से पहले नहीं कराई अल्कोहल जांच
मुंबई:

नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने पाया कि पिछले साल कथित तौर पर एयर इंडिया के 130 पायलट और 430 क्रू सदस्यों ने उड़ान से पहले और बाद में अनिवार्य अल्कोहल जांच से बचते रहे हैं. ऐसे में इन पायलटों और क्रू सदस्यों को ड्यूटी से हटाया जा सकता है. सूत्रों ने पीटीआई भाषा को यहां बताया कि ये क्रू सदस्य सिंगापुर, कुवैत, बैंकॉक, अहमदाबाद और गोवा जैसी जगहों की उड़ानों में काफी समय तक नियमित तौर पर अल्कोहल जांच से बचते रहे हैं. 

ये भी पढ़ें: सीनियर पायलटों को अब नौकरी छोड़ने के लिए देना होगा एक साल का नोटिस

उन्होंने बताया कि डीजीसीए क्रू सदस्यों द्वारा सुरक्षा मानकों के कथित उल्लंघन को लेकर पहले ही एयर इंडिया प्रबंधन को अंतिम चेतावनी दे चुका है. डीजीसीए के सुरक्षा मानकों के अनुसार, उड़ान से पहले सभी क्रू सदस्यों और पायलटों का अल्कोहल जांच से गुजरना अपरिहार्य है.


ये भी पढ़ें: ड्रोन के लिए बनेंगे रिमोट पायलेट, DGCA लाइसेंस देने पर कर रहा विचार

एयर इंडिया ने इसपर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वह डीजीसीए के प्रावधानों का पूरी तरह पालन करता रहा है और वह नियामक के हर दिशानिर्देशों का पालन करता रहेगा. एयर इंडिया ने बयान जारी कर कहा, 'हम डीजीसीए के साथ काम कर रहे हैं और डीजीसीए के सभी दिशानिर्देशों का पालन करेंगे.' 

ये भी पढ़ें: हवाई अड्डा शुल्क में कटौती से घरेलू विमान यात्रियों को मिलेगी राहत

एक सूत्र ने बताया, 'डीजीसीए एयर इंडिया प्रबंधन के संज्ञान में यह बात ला चुका है कि उसके 132 पायलटों और 434 क्रू सदस्यों ने अनिवार्य अल्कोहल जांच का उल्लंघन किया है. यह सुरक्षा मानकों का उल्लंघन है और डीजीसीए इस बाबत इन क्रू सदस्यों के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई करेगा.' 

टिप्पणियां

VIDEO: सुप्रीम कोर्ट का डीजीसीए को नोटिस

इतने क्रू सदस्यों को एक बार में इतने पायलट और क्रू सदस्यों को काम से नहीं हटा सकता है इससे उसके समक्ष परिचालन में दिक्कतें आ सकती हैं इस कारण संभवत: डीजीसीए चरणबद्ध तरीके से कार्रवाई करेगा.

इनपुट: भाषा
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement