यूनाइटेड स्प्रिट्स में 53.4 फीसदी हिस्सेदारी खरीदेगी डियाजिओ

यूनाइटेड स्प्रिट्स में 53.4 फीसदी हिस्सेदारी खरीदेगी डियाजिओ

खास बातें

  • शराब बनाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी डिआजिओ भारतीय कंपनी यूनाइटेड स्प्रिट्स की 53.4 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदेगी। यह सौदा 11,166.5 करोड़ रुपये का है और इसको कई तह में पूरा किया जाएगा।
नई दिल्ली:

शराब बनाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी डिआजिओ भारतीय कंपनी यूनाइटेड स्प्रिट्स की 53.4 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदेगी। यह सौदा 11,166.5 करोड़ रुपये का है और इसको कई तह में पूरा किया जाएगा।

इस सौदे से किंगफिशर एयरलाइंस के कारण वित्तीय समस्याओं में फंसे विजय माल्या को थोड़ी राहत मिल सकती है।

ब्रिटेन की कंपनी डियाजिओ ने भारतीय कंपनी के साथ एक संयुक्त बयान में कहा है कि उसने यूनाइटेड ब्रेवरीज (होल्डिंग्स) लि. तथा यूनाइटेड स्प्रिट्स लि. (यूएसएल) के साथ समझौता किया है। इसके तहत वह भारत में शराब की प्रमुख कंपनी यूएसएल के 27.4 प्रतिशत शेयर खरीदेगी। इसके लिए 1,440 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से 5,725.4 करोड़ रुपये का भुगतान किया जाएगा।

साथ ही वह यूबीएसएल समूह, यूएसएल बेनिफिट ट्रस्ट, पालमर इनवेस्टमेंट ग्रुप लि. तथा यूबी स्पोर्ट्स मैनेजमेंट (यूएसएल की दो अनुषंगी कंपनियों) तथा एसडब्ल्यूईडब्ल्यू बेनिफिट कंपनी (यूएसएल के कुछ कर्मचारियों के फायदे के लिए गठित कंपनी) से यूएसएल के 19.3 प्रतिशत शेयर और खरीदेगी। इसके लिए भी 1,440 रुपये प्रति शेयर के भाव पर सौदा हुआ है। इसके अलावा भारतीय कंपनी डिआजिओ को वरीयता के आधार पर 1,440 रुपये की दर से नए शेयर जारी करेगी जो इस निर्गम के बाद कंपनी की इक्विटी पूंजी के 10 प्रतिशत के बराबर होगा। इसके लिए यूएसएल के शेयरधारकों के समक्ष प्रस्ताव रखा जाएगा। डिआजियों इसके साथ ही यूएसएल में और 26 प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल करने के लिए 1,440 रुपये प्रति शेयर की दर से खरीद के लिए शेयरधारकों के समक्ष खुली बोली पेश करेगी।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com