NDTV Khabar

पिछले साल 10 लाख करोड़ से ज्यादा हुआ प्रत्यक्ष कर संग्रह

"बीते वित्त वर्ष 2017-18 में कुल प्रत्यक्ष कर संग्रह 10.03 लाख करोड़ रहा, जोकि वित्त वर्ष 2016-17 के मुकाबले 18 फीसदी ज्यादा है."

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पिछले साल 10 लाख करोड़ से ज्यादा हुआ प्रत्यक्ष कर संग्रह

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:

बीते वित्त वर्ष में देश में 10 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा प्रत्यक्ष कर संग्रह किया गया जोकि उससे पिछले साल के मुकाबले 18 फीसदी ज्यादा है. यह जानकारी बुधवार को सरकार की ओर से दी गई. वित्त मंत्रालय ने एक ट्वीट में कहा, "बीते वित्त वर्ष 2017-18 में कुल प्रत्यक्ष कर संग्रह 10.03 लाख करोड़ रहा, जोकि वित्त वर्ष 2016-17 के मुकाबले 18 फीसदी ज्यादा है."

मंत्रालय ने कहा कि प्रत्यक्ष कर संग्रह में 18 फीसदी की सालाना वृद्धि पिछले सात साल में सबसे ज्यादा है. 

टिप्पणियां

पिछले महीने वित्त सचिव हसमुख अधिया ने कहा कि वित्त वर्ष 2017-18 में भारत का प्रत्यक्ष कर संग्रह पिछले साल के मुकाबले 17.1 फीसदी बढ़कर 9.95 लाख करोड़ हो गया और यह बजट अनुमान के आंकड़े से पहले ही अधिक हो चुका है. 


उन्होंने कहा कि ये आंकड़े अस्थाई हैं और कर संग्रह के अंतिम आंकड़े आने पर इसमें परिवर्तन हो सकता है.



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement