NDTV Khabar

ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से जोड़ने का ऐलान जल्द ही, रविशंकर प्रसाद ने कहा- कर रहे हैं विचार

केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने कहा है कि सरकार इस बारे में योजना बना रही है. उन्होंने कहा कि इस बारे में उन्होंने 'नितिन गडकरी जी से बात की है.'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से जोड़ने का ऐलान जल्द ही, रविशंकर प्रसाद ने कहा- कर रहे हैं विचार

आधार से बैंक खातों, मोबाइल नंबर, PAN को लिंक करने के बाद अब होगा ड्राइविंग लाइसेंस को जोड़ने का ऐलान

खास बातें

  1. सरकार अब ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से जोड़ने पर विचार कर रही
  2. केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने यह बात कही है
  3. उन्होंने कहा कि इस बारे में उन्होंने 'नितिन गडकरी जी से बात की है.'
नई दिल्ली: पैन, बैंक खातों और मोबाइल नंबर को आधार से जोड़ने के निर्देश के बाद सरकार अब ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से जोड़ने पर विचार कर रही है. केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने कहा है कि सरकार इस बारे में योजना बना रही है. उन्होंने कहा कि इस बारे में उन्होंने 'नितिन गडकरी जी से बात की है.'

पढ़ें- क्या आपका बैंक खाता आधार से लिंक है? ऑनलाइन चेक करें स्टेटस - स्टेप बाय स्टेप गाइड

डीएल को आधार से लिंक करने की योजना के पीछे यह है कारण
मोदी सरकार ने आधार को धीरे धीरे कई मामलों में जरूरी बना दिया है. दरअसल सरकार यह फैसला एक ही व्यक्ति के नाम पर कई कई लाइसेंस होने की घटनाओं को खत्म करना चाहती है. रवि शंकर प्रसाद ने कहा है कि सरकार आधार और ड्राइविंग लाइसेंस को लिंक करने की योजना पर विचार कर रही है और जल्द ही इस पर फैसला लिया जा सकता है. कई बार ऐसा होता है कि लोग एक लाइसेंस रद्द होने पर या सस्पेंड होने पर दूसरा लाइसेंस बनवा लेते हैं. एक से अधिक ड्राइविंग लाइसेंस फर्जी पहचान को भी बढ़ावा देते हैं. 
मोबाइल नंबर को आधार से लिंक
इसी बीच बता दें कि साल 2018 की फरवरी तक आपको अपने सिम (SIM) (यदि एक से अधिक नंबर यूज करते हैं तो प्रत्येक सिम) को आधार कार्ड से लिंक करवा लेना नहीं तो सिम डीएक्टिवेट हो सकता है. अगर आपने अपने आधार कार्ड को सिम कार्ड से लिंक अभी तक नहीं करवाया है तो जल्द से जल्द करवा लें.  न्यूज एजेंसी एएनआई के ट्वीट के मुताबिक केंद्र ने एक नोटिस जारी करके कहा है कि सभी सिम कार्ड जिन्हें आधार कार्ड से फरवरी 2018 तक लिंक नहीं कराया तो फोन नंबर डिएक्टिवेट हो सकता है.

इस साल फरवरी में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को आदेश दिया था कि वह एक साल के अंदर सभी मोबाइल टेलिफोन उपभोक्ताओं की पहचान करें. कोर्ट ने कहा था कि यूजर्स के सत्यापन के लिए के लिए यूजर्स के सिम कार्ड को उनके आधार से लिंक कर दिया जाए.

VIDEO :  अब स्कूल जाएंगे ओंकार, एनडीटीवी का असर

बैंक खाता आधार से लिंक
साथ ही, क्या आपने अपना बैंक खाता आधार से लिंक कर लिया है? अपने केवाईसी को अपडेट करना जरूरी है. 1 जून 2017 को सरकार द्वारा जारी निर्देश के मुताबिक 31 दिसंबर 2017 तक आपको हर हर हाल में अपने बैंक खाते से आधार संख्या को जोड़ लेना है. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement