यह ख़बर 17 मार्च, 2012 को प्रकाशित हुई थी

अब छोटे जौहरियों से भी जेवर लेना होगा मंहगा

अब छोटे जौहरियों से भी जेवर लेना होगा मंहगा

खास बातें

  • बजट में सोने और अन्य महंगी धातुओं के गैर ब्रांडेड आभूषणों पर एक फीसदी उत्पाद शुल्क लगाने का प्रस्ताव किया गया है, जिससे अब छोटे जौहरियों से भी जेवरात लेना मंहगा होगा।
नई दिल्ली:

वित्तमंत्री प्रणब मुखर्जी ने संसद में पेश 2012-13 के आम बजट में सोने और अन्य महंगी धातुओं के गैर ब्रांडेड आभूषणों पर एक फीसदी उत्पाद शुल्क लगाने का प्रस्ताव किया, जिससे अब छोटे जौहरियों से भी जेवरात लेना मंहगा होगा।

वित्तमंत्री ने चांदी के ब्रांडेड आभूषणों पर उत्पाद शुल्क में पूरी छूट देने का प्रस्ताव किया है। मुखर्जी ने पिछले बजट में मंहगे ब्रांडेड कीमती धातुओं के आभूषण पर एक प्रतिशत का उत्पाद शुल्क लगाने की शुरुआत की थी।

इस प्रस्ताव के छोटे कारीगरों और सुनारों पर पड़ने वाले असर को देखते हुए यह शुल्क मूल्य के 30 फीसदी पर लागू होगा। साथ ही पंजीकरण और भुगतान की जिम्मेदारी जॉबवर्क पर आभूषणों का निर्माण करवाले वाले व्यक्ति पर डाली जाएगी।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com