NDTV Khabar

आधार डाटा लीक मामले पर EPFO ने दिया यह बयान, CSC की सेवाएं रोकीं गईं

कर्मचारियों के आधार डाटा लीक होने की खबर पर कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने अपने आनलाइन सामान्य सेवा केंद्र जिसे CSC के नाम से जाना जाता है, की सेवाएं रोक दी हैं. 

95 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
आधार डाटा लीक मामले पर EPFO ने दिया यह बयान, CSC की सेवाएं रोकीं गईं

ईपीएफओ.

खास बातें

  1. कल मीडिया में डेटा चोरी की खबरें आईं
  2. ईपीएफओ ने किया इनकार
  3. ईपीएफओ ने सीएससी केंद्र का काम रोका.
नई दिल्ली:

ईपीएफओ (EPFO) से जुड़े 2.7 करोड़ लोगों के डेटा चोरी होने के मामले के सामने आने के बाद विभाग हरकत में आया है. आईटी मंत्रालय को लिखे गए एक खत के मुताबिक हैकर्स ने EPFO के आधार सीडिंग पोर्टल से डेटा चुराया है. कर्मचारियों के आधार डाटा लीक होने की खबर पर कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने अपने आनलाइन सामान्य सेवा केंद्र जिसे CSC के नाम से जाना जाता है, की सेवाएं रोक दी हैं. 

पढ़ें - अगर आपकी कंपनी ने आपका PF खाते में नहीं कराया जमा, तब EPFO उठाएगा यह कदम

विभाग का है कि CSC की ‘संवेदनशीलता की जांच’ लंबित रहने तक इन सेवाओं को रोका गया है. बता दें कि डेटा लीक की खबरों के बाद सरकार की ओर से साफ कहा गया कि डेटा लीक नहीं हुआ है. वहीं, ईपीएफओ ने सरकार की वेबसाइट से अंशधारकों का डाटा लीक की किसी आशंका को खारिज कर है. 

पढ़ें - EPFO के पास फरवरी में नये सदस्यों का पंजीकरण 4 महीने के न्यूनतम स्तर पर


बता दें कि खबरें आ रही थी कि aadhaar.epfoservices.com से अंशधारकों का डाटा चोरी किया गया है.
 


ये रपटें ईपीएफओ केंद्रीय भविष्य निधि आयुक्त वीपी जॉय द्वारा सीएससी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी दिनेश त्यागी को लिखे पत्र पर आधारित हैं.

पढ़ें - प्रोविडेंट फंड का पोर्टल हैक, 2.7 करोड़ लोगों का डेटा चोरी

इतना ही नहीं सीएसई की सेवाओं बंद करने के कदम पर   ईपीएफओ ने बयान जारी कर कहा, 'डेटा या सॉफ्टवेयर की संवेदनशीलता को लेकर चेतावनी एक सामान्य प्रशासनिक प्रक्रिया है.

पढ़ें - नौकरीपेशा के लिए जरूरी खबर : EPFO ने निकासी के नियमों में किया बदलाव

टिप्पणियां

इसी आधार पर सीएससी के जरिये प्रदान की जाने वाली सेवाओं को 22 मार्च, 2018 से रोक दिया गया है.' ईपीएफओ ने कहा कि ये रिपोर्ट सीएससी (CSC) के जरिये सेवाओं के बारे में है और इनका ईपीएफओ सॉफ्टवेयर या डाटा केंद्र से लेना देना नहीं है. ईपीएफओ ने कहा कि डाटा लीक अब तक कोई पुष्टि नहीं हुई है. 

VIDEO: नौकरी का आंकड़ा

ईपीएफओ ने कहा कि किसी तरह की चिंता की जरूरत नहीं है. डेटा लीक की किसी भी संभावना को रोकने के लिए हरसंभव उपाय किए गए हैं. भविष्य में इस बारे में सतर्कता बरती जाएगी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement