NDTV Khabar

ईपीएफ (EPFO) अंशधारकों को 2016-17 के लिए आपके जमा पर 8.65% ब्याज मिलेगा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ईपीएफ (EPFO) अंशधारकों को 2016-17 के लिए आपके जमा पर 8.65% ब्याज मिलेगा

ईपीएफ (EPFO) अंशधारकों के लिए खुशखबरी : 2016-17 के लिए आपके जमा पर 8.65% ब्याज मिलेगा (सांकेतिक फोटो)

खास बातें

  1. खबरें थीं कि पीएफ पर ब्याज दरें कम की जा सकती हैं, इसलिए यह खबर राहत की
  2. 2016-17 के लिए उनकी भविष्य निधि जमा पर 8.65 प्रतिशत ब्याज
  3. श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय ने यह जानकारी दी
नई दिल्ली:

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के सदस्यों को संगठन से लंबे समय तक जुड़े रहने के लिये सेवानिवृत्ति के समय 50,000 रुपये तक का ‘लायल्टी-कम-लाइफ’ लाभ दिए जाने के ऐलान के बाद अब सरकार ने कहा है कि 2016-17 के लिए उनकी भविष्य निधि जमा पर 8.65 प्रतिशत का ब्याज मिलेगा.

सरकार का यह ऐलान ऐसे समय आया है जब इस तरह की खबरें आ रही थीं कि वित्त मंत्रालय द्वारा श्रम मंत्रालय से ईपीएफ ब्याज दर को आधा प्रतिशत कम करने को कहा जा रहा है. न्यूज एजेंसी भाषा के मुताबिक, श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय ने यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि यह संगठन के न्यासियों ने दिसंबर के फैसले के अनुसार ही है.

टिप्पणियां

दत्तात्रेय से पूछा गया था कि क्या वित्त मंत्रालय ब्याज दरों को कम करने का मामला बना रहा है. उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं है. सीबीटी ने 8.65 प्रतिशत ब्याज देने का फैसला किया है. हमारा मंत्रालय इस बारे में वित्त मंत्रालय से विचार विमर्श करता रहता है. 8.65 प्रतिशत का ब्याज देने के बाद हमारे पास 158 करोड़ रुपये का अधिशेष होगा. उन्होंने कहा कि जरूरत होने पर मैं वित्त मंत्रालय से बात करुंगा. मैंने उनसे इसे मंजूरी देने का आग्रह करुंगा.किसी भी तरह यह ब्याज कामगारों को दिया जाएगा लेकिन यह कब और कैसे दिया जाएगा यह अभी सवाल है.


बता दें कि कल यानी गुरुवार को ईपीएफओ निदेशक मंडल ने यह भी फैसला किया है कि किसी सदस्य के स्थायी रूप से विकलांग होने की स्थिति में भी यह सुविधा उपलब्ध होगी. ऐसी स्थिति में सदस्य का योगदान 20 वर्ष से कम रहने पर भी यह सुविधा उपलब्ध होगी. (एजेंसियों से इनपुट)



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement