NDTV Khabar

सितंबर में निर्यात 25.67 प्रतिशत बढ़ा, छह महीने में सर्वाधिक वृद्धि

यह मार्च 2017 के बाद सर्वाधिक निर्यात वृद्धि है. उस समय इसमें 27.5 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी.

2 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
सितंबर में निर्यात 25.67 प्रतिशत बढ़ा, छह महीने में सर्वाधिक वृद्धि

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली: देश का निर्यात सितंबर में 25.67 प्रतिशत बढ़कर 28.61 अरब डालर रहा. रसायन, पेट्रोलियम और इंजीनियरिंग उत्पादों के बेहतर प्रदर्शन से निर्यात में छह महीने में सर्वाधिक वृद्धि दर्ज की गयी है. यह मार्च 2017 के बाद सर्वाधिक निर्यात वृद्धि है. उस समय इसमें 27.5 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी. वाणिज्य मंत्रालय के आज जारी आंकड़े के अनुसार आयात भी आलोच्य महीने में 18.09 प्रतिशत बढ़कर 37.6 अरब डालर हो गया. एक साल पहले इसी महीने में यह 31.83 अरब डालर था. इस साल सितंबर महीने में व्यापार घाटा 8.98 अरब डालर रहा जो पिछले वर्ष के इसी महीने के 9 अरब डालर के लगभग बराबर है.

वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु ने टि्वटर पर लिखा, ‘देश की वृद्धि की कहानी वापस आ गयी है. निर्यात सितंबर 2016 के मुकाबले इस वर्ष सितंबर में 25.6 प्रतिशत बढ़ा.’ उन्होंने कहा कि आलोच्य महीने के दौरान निर्यात के सभी शीर्ष 10 जिंस समूह में सकारात्मक वृद्धि हुई. कुल निर्यात में इसकी हिस्सेदारी 82.14 प्रतिशत है. स्वर्ण आयात आलोच्य महीने में 5 प्रतिशत घटकर 1.71 अरब डालर रहा. आंकड़े के अनुसार तेल एवं गैर-तेल आयात पिछले महीने क्रमश: 18.47 प्रतिशत बढ़कर 8.18 अरब डालर और 17.98 प्रतिशत बढ़कर 29.4 अरब डालर रहा.

यह भी पढ़ें : निर्यातकों का लंबित जीएसटी रिफंड दो महीनों में हो जाएगा वापस : राजस्व सचिव हसमुख अधिया

चालू वित्त वर्ष में अप्रैल-सितंबर के दौरान कुल निर्यात 11.52 प्रतिशत बढ़कर 147.18 अरब डालर रहा जबकि आयात 25.08 प्रतिशत बढ़कर 219.31 अरब डालर रहा. इससे व्यापार घाटा 72.12 अरब डालर पर पहुंच गया. वाणिज्य मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘पिछले 13 महीने से निर्यात में सकारात्मक वृद्धि हुई है. सितंबर 2017 में निर्यात डालर के संदर्भ में 25.67 प्रतिशत बढ़ा.’ आंकड़े पर अपनी प्रतिक्रिया में निर्यातकों के शीर्ष संगठन फियो ने कहा कि आने वाले महीनों में निर्यात में और वृद्धि होगी क्योंकि सरकार ने माल एवं सेवा कर (जीएसटी) से जुड़ी उनकी चिंताओं को दूर कर दिया है.’

VIDEO : नोटबंदी से कई कारोबार हो रहे हैं प्रभावित​


भारतीय निर्यात संगठनों का परिसंघ (फियो) के अध्यक्ष गणेश गुप्ता ने एक बयान में कहा, ‘हालांकि वैश्विक अनिश्चितताएं, रुपये में उतार-चढ़ाव और संरक्षणवाद निर्यात वृद्धि के रास्ते में कुछ बड़ी बाधाएं बनी हुई हैं.’ उन्होंने उम्मीद जतायी कि देश का निर्यात चालू वित्त वर्ष में 310 अरब डालर पहुंच जाएगा. आलोच्य महीने में पेट्रोलियम, इंजीनियरिंग और रसायन का निर्यात क्रमश: 37 प्रतिशत, 44.24 प्रतिशत और 46 प्रतिशत बढ़ा. हालांकि हस्तशिल्प, लौह अयस्क और फल एवं सब्जी का निर्यात घटा है.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement