विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने अगस्त में ऋृण बाजारों में 10,000 करोड़ रुपये डाले

शेयरों के ऊंचे मूल्यांकन की वजह से एफपीआई ने इस अवधि में शेयरों से 2,000 करोड़ रुपये की निकासी की है.

विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने अगस्त में ऋृण बाजारों में 10,000 करोड़ रुपये डाले

विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों में बढ़ रहा लोगों का भरोसा. तस्वीर: प्रतीकात्मक

नयी दिल्ली:

भारतीय ऋृण बाजारों को लेकर विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) का रुख सकारात्मक बना हुआ है. भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा नीतिगत दरों में कटौती के बाद इस महीने उन्होंने अभी तक भारतीय ऋृण बाजारों में 10,000 करोड़ रुपये डाले हैं. हालांकि शेयरों के ऊंचे मूल्यांकन की वजह से एफपीआई ने इस अवधि में शेयरों से 2,000 करोड़ रुपये की निकासी की है.

​ये भी पढ़ें: एफडीआई के चलते एफपीआई में बढ़ा आकर्षण

डिपॉजिटरी के ताजा आंकड़ों के अनुसार एक से 12 अगस्त के दौरान एफपीआई ने ऋृण बाजारों में शुद्ध रूप से 10,419 करोड़ रुपये :1.6 अरब डालर: का निवेश किया है. इस ताजा प्रवाह के मौजूदा वर्ष में एफपीआई का ऋृण बाजारों में कुल निवेश 1.24 लाख करोड़ रुपये या 19 अरब डॉलर पर पहुंच गया.

वीडियो: पंजाब के प्लाइवुड बाजार पर जीएसटी की मार

एफपीआई ने जुलाई में भारतीय बाजारों में चार अरब डॉलर का निवेश किया:  विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) का भारतीय बाजार को लेकर सकारात्मक रुख कायम है. एफपीआई ने इस महीने अभी तक भारतीय बाजारों में अन्य उभरते बाजारों की तुलना में वृद्धि की बेहतर संभावनाओं के मद्देनजर चार अरब डॉलर का निवेश किया है. इससे पिछले पांच महीनों फरवरी से जून के दौरान एफपीआई ने भारतीय बाजारों में शुद्ध रूप से 1.6 लाख करोड़ रुपये का निवेश किया था. जनवरी में उन्होंने यहां से 3,496 करोड़ रुपये की निकासी की थी.

इनपुट: पीटीआई

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com