NDTV Khabar

एफडीआई के चलते एफपीआई में बढ़ा आकर्षण, दो सप्ताह में 11,000 करोड़ का निवेश

5 नान्स डॉट कॉम के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी दिनेश रोहिरा ने एफपीआई का भारतीय पूंजी बाजार के प्रति आकर्षण बढ़ने की वजह अर्थव्यवस्था में तेजी को बताया. इसके अलावा निवेशक एक जुलाई को बिना किसी अड़चन के जीएसटी लागू होने से उत्साहित हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एफडीआई के चलते एफपीआई में बढ़ा आकर्षण, दो सप्ताह में 11,000 करोड़ का निवेश

खास बातें

  1. जीएसटी लागू होने से भारतीय अर्थव्यवस्था में तेजी
  2. विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) का भी बढ़ा इंट्रेस्ट
  3. दो सप्ताह में देश में करीब 11,000 करोड़ रुपये का निवेश
नयी दिल्ली: बिना किसी अड़चन के जीएसटी के लागू होने तथा भारतीय अर्थव्यवस्था में तेजी से उत्साहित विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने इस महीने के पहले दो सप्ताह में देश के पूंजी बाजार में करीब 11,000 करोड़ रुपये का निवेश किया है. यह नवीनतम नकदी प्रवाह पिछले पांच महीने (फरवरी-जून) में कई कारणों से 1.62 लाख करोड़ रुपये के शुद्ध विदेशी पूंजी प्रवाह के बाद आया है. उससे पहले जनवरी में ऐसे निवेशकों ने बांड बाजार से 3,496 करोड़ रुपये निकाले थे.
 
5 नान्स डॉट कॉम के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी दिनेश रोहिरा ने एफपीआई का भारतीय पूंजी बाजार के प्रति आकर्षण बढ़ने की वजह अर्थव्यवस्था में तेजी को बताया. इसके अलावा निवेशक एक जुलाई को बिना किसी अड़चन के जीएसटी लागू होने से उत्साहित हैं.
 
हालांकि उन्होंने कहा कि आगामी वैश्वक वृहद आर्थिक आंकड़े पर हाल के घटनाक्रम से कुछ विकासशील देशों में स्थिति में सुधार के संकेत मिलते हैं जो भारतीय बाजार के लिए बाधा खड़ी कर सकते हैं क्योंकि एफपीआई अपना निवेश गंतव्य बदल सकते हैं.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement