NDTV Khabar

सेंसेक्स 206 अंक टूटा, वित्त वर्ष 2017-18 की समाप्ति 11.30 प्रतिशत लाभ के साथ

ब्रोकरों ने कहा कि कमजोर वैश्विक रुख के अलावा डेरिवेटिव खंड में मार्च माह के निपटान की वजह से भागीदारों द्वारा अपने सौदों के निपटान से भी कारोबारी धारणा प्रभावित हुई.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सेंसेक्स 206 अंक टूटा, वित्त वर्ष 2017-18 की समाप्ति 11.30 प्रतिशत लाभ के साथ
नई दिल्ली: वित्त वर्ष 2017-18 के आखिरी कारोबारी सत्र में बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स बुधवार को 206 अंक टूटकर 32,969 अंक पर बंद हुआ. वित्तीय वर्ष की समाप्ति पर सेंसेक्स ने 11.30 प्रतिशत का लाभ दर्ज किया है. ब्रोकरों ने कहा कि कमजोर वैश्विक रुख के अलावा डेरिवेटिव खंड में मार्च माह के निपटान की वजह से भागीदारों द्वारा अपने सौदों के निपटान से भी कारोबारी धारणा प्रभावित हुई. इससे पिछले दो सत्रों में सेंसेक्स ने लाभ दर्ज किया था. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 70 अंक के नुकसान से 10,113.70 अंक पर बंद हुआ. बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स वित्त वर्ष 2017-18 में 3,348.18 अंक या 11.30 प्रतिशत चढ़ा है. इससे पिछले वित्त वर्ष में सेंसेक्स 16.88 प्रतिशत चढ़ा था.

टिप्पणियां
वित्त वर्ष के दौरान निफ्टी ने 939.95 अंक या 10.25 प्रतिशत की बढ़त दर्ज की. इससे पिछले वित्त वर्ष में निफ्टी 1,435.55 अंक या 18.55 प्रतिशत चढ़ा था. सेंसेक्स बुधवार को 205.71 अंक या 0.62 प्रतिशत के नुकसान के साथ 32,968.68 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान यह 33,104.11 से 32,917.66 अंक के दायरे में रहा.

पिछले दो सत्रों में सेंसेक्स 577.85 अंक चढ़ा था. निफ्टी 70.45 अंक या 0.69 प्रतिशत के नुकसान से 10,113.70 अंक पर आ गया. कारोबार के दौरान यह 10,158.35 से 10,096.90 अंक के दायरे में रहा. साप्ताहिक आधार पर सेंसेक्स 372.14 अंक या 1.14 प्रतिशत तथा निफ्टी 115.65 अंक या 1.16 प्रतिशत चढ़ा है. गुरुवार को महावीर जयंती तथा शुक्रवार को गुड फ्राइडे के मौके पर शेयर बाजारों में अवकाश रहेगा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement