NDTV Khabar

सोना आयात 13.5 प्रतिशत घटकर 27.4 अरब डॉलर पर पहुंचा

देश में समाप्त वित्त वर्ष 2016-17 में सोने का आयात 13.5 प्रतिशत घटकर 27.4 अरब डॉलर रह गया है. इससे वर्ष के दौरान चालू खाते के घाटे पर अंकुश रखने में मदद मिली है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सोना आयात 13.5 प्रतिशत घटकर 27.4 अरब डॉलर पर पहुंचा

सोने का आयात पिछले साल के मुकाबले इस बार काफी कम हुआ है

खास बातें

  1. बीते साल इसी माह में आयात 97.40 करोड़ डॉलर का हुआ था
  2. भारत दुनिया में सबसे ज्यादा सोने का आयात करने वाले देशों में है
  3. आयातित सोने का आभूषण उद्योग में इस्तेमाल किया जाता है
नई दिल्ली: देश में समाप्त वित्त वर्ष 2016-17 में सोने का आयात 13.5 प्रतिशत घटकर 27.4 अरब डॉलर रह गया है. इससे वर्ष के दौरान चालू खाते के घाटे पर अंकुश रखने में मदद मिली है. इससे पिछले वर्ष इस कीमती धातु का कुल आयात 31.7 अरब डॉलर का हुआ था.

उद्योग विशेषज्ञों के अनुसार घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय बाजार में सोने के दाम में नरमी आयात में गिरावट की विभिन्न वजह में से एक रही है. सोने का आयात कम होने से पिछले वित्त वर्ष के दौरान व्यापार घाटा कम होकर 105.7 अरब डॉलर रह गया जबकि इससे पिछले वित्त वर्ष में यह घाटा 118.7 अरब डॉलर रहा था.

वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक माह दर माह आधार पर सोने का आयात मार्च में उछलकर 4.17 अरब डॉलर हो गया जबकि एक साल पहले इसी माह में यह 97.40 करोड़ डॉलर का हुआ था.

भारत दुनिया में सबसे ज्यादा सोने का आयात करने वाले देशों में शामिल है. आयातित सोने का मुख्य रूप से आभूषण उद्योग में इस्तेमाल किया जाता है. पिछले वित्त वर्ष में अप्रैल से दिसंबर की अवधि में चालू खाते का घाटा एक साल पहले की इसी अवधि के 1.4 प्रतिशत से घटकर आधा यानी 0.7 प्रतिशत रह गया.

उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक मात्रा के लिहाज से देश में अप्रैल से जनवरी अवधि में कुल 560.32 टन सोने का आयात किया गया. इसके मुकाबले 2015-16 में समूचे वर्ष के दौरान 968.06 टन और 2014-15 में 915.47 टन सोने का आयात किया गया. सोने पर वर्तमान में 10 प्रतिशत आयात शुल्क लागू है. रत्न एवं आभूषण उद्योग के साथ-साथ वाणिज्य मंत्रालय समय-समय पर वित्त मंत्रालय से आयात शुल्क में कटौती की मांग करता रहा है.
 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement