उतार-चढ़ाव भरे कारोबार के दौरान चांदी टूटी, सोना मजबूत

खास बातें

  • समीक्षाधीन सप्ताह के दौरान दिल्ली सर्राफा बाजार में चार दिन कारोबार हुआ। वैश्विक संकेतों के बीच सप्ताह के अंत में मौजूदा निचले सतर पर लिवाली के चलते सोने की कीमतों में तेजी आई।
नई दिल्ली:

समीक्षाधीन सप्ताह के दौरान दिल्ली सर्राफा बाजार में चार दिन कारोबार हुआ। वैश्विक संकेतों के बीच सप्ताह के अंत में मौजूदा निचले सतर पर लिवाली के चलते सोने की कीमतों में तेजी आई। जबकि लिवाली समर्थन के अभाव में चांदी की कीमतों में गिरावट आई।

बुधवार और गुरुवार को 'विश्वकर्मा और भैय्या दूज' के कारण बाजार बंद रहा। इसके अलावा दीपावाली के शुभदिन भी खरीदारी नगण्य रही।

बाजार सूत्रों के अनुसार मौजूदा शादी-विवाह के मौसम और विदेशों में तेजी के कारण सप्ताह के अंतिम दिन स्टॉकिस्टों की लिवाली के चलते सोने की कीमतों में तेजी आई। हालांकि, औद्योगिक मांग कमजोर पड़ने से चांदी की कीमतों पर बिकवाली दबाव रहा।

ताजा लिवाली के चलते सोना 99.9 और 99.5 शुद्ध के भाव चढ़कर क्रमश: 32485 और 32285 रु प्रति दस ग्राम तक जा पहुंचे।

बाद में मौजूदा उच्चस्तर पर मांग कमजोर पड़ने और स्टॉकिस्टों की बिकवाली के चलते यह क्रमश: 32000 और 31800 रु तक लुढ़कने के बाद सप्ताह के अंत में क्रमश: 32175 और 31975 रु प्रति दस ग्राम बंद हुए। गिन्नी के भाव सीमित कारोबार के दौरान पूर्वस्तर 25500 रु प्रति आठ ग्राम अपरिवर्तित बंद हुए।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

खरीदारी और बिकवाली के झोंकों के बीच चांदी में शुरूआती लाभ लुप्त हो गया और अंत में भाव हानि के साथ बंद हुए।

चांदी तैयार के भाव 400 रु की गिरावट के साथ 61100 रु और चांदी साप्ताहिक डिलीवरी के भाव 15 रु टूटकर सप्ताहांत में 60900 रु किलो बंद हुए। चांदी सिक्का के भाव 1000 रु चढ़कर सप्ताहांत में 78000 : 79000 रु प्रति सैकड़ा बंद हुए।