NDTV Khabar

झारखंड के श्रमिकों को अब 750 रुपये पेंशन, परिवार पेंशन भी 500 रुपये होगी : रघुवर दास

64 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
झारखंड के श्रमिकों को अब 750 रुपये पेंशन, परिवार पेंशन भी 500 रुपये होगी : रघुवर दास

झारखंड सरकार ने पेंशन बढ़ाई

रांची: झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने घोषणा की कि श्रमिकों के लिए पेंशन योजना के लाभुकों को प्रति माह मिलने वाली पेंशन की राशि 500 रुपये से बढ़ाकर 750 रुपये की जा रही है और इसी प्रकार परिवार पेंशन योजना के लाभुकों को प्रति माह मिलने वाली अधिकतम 300 रुपये की राशि के बदले अब 500 रुपये का भुगतान किया जाएगा. मुख्यमंत्री ने आज यहां एक कार्यक्रम में घोषणा की कि इन दोनों पेंशन योजनाओं की राशि 1 मई 2017 से ही बढ़ा दी गई है. उन्होंने कहा कि सरकार गरीब बच्चों के लिए स्पोर्ट्स स्कूल खोलेगी ताकि खेल में रुचि रखने वाले प्रतिभाशाली बच्चे इस क्षेत्र में अपना कैरियर बना सकें. वे आज अन्तरराष्ट्रीय श्रमिक दिवस के अवसर पर श्रमिक सम्मान समारोह को संबोधित कर रहे थे.

मुख्यमंत्री दास ने कहा कि ग्रामीण एवं सुदूरवर्ती पठारी क्षेत्रों में रोजगार के साधन नहीं होने से वहां के युवक कई बार भटक जाते हैं. सरकार लगातार प्रयास कर रही है कि इन क्षेत्रों के युवाओं को रोजगार मिले. सरकार के प्रयास से उग्रवाद प्रभावित इलाकों में कैम्प लगाकर 900 युवकों के लिए प्राइवेट सेक्यूरिटी कम्पनी में नियोजन की व्यवस्था की गई है. इनको प्रति माह 8500 रुपये का वेतन प्राप्त हो रहा है.

उन्होंने कहा कि संगठित क्षेत्रों के श्रमिक ट्रेड यूनियन से जुड़े होते हैं, लेकिन असंगठित श्रमिक किसी यूनियन से नहीं जुड़े रहते हैं. मुख्यमंत्री ने असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों से अपील की कि अपना निबंधन जरूर कराएं ताकि उन्हें केन्द्र एवं राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ मिल सके. इससे बिचौलियों द्वारा श्रमिकों को मिलने वाले लाभ का दुरुपयोग भी नहीं किया जा सकेगा. उन्होंने निर्देश दिया कि पूरे राज्य में एक सप्ताह का कैम्प लगाकर असंगठित क्षेत्र के वैसे श्रमिकों का खाता खुलवाया जाये जिनका बैंक खाता नहीं खुला है.
 

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement