Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

डिजिटल पेमेंट पर मोदी सरकार ला सकती है बड़ी स्कीम, आम आदमी और व्यापारियों को होगा बड़ा लाभ

विभाग एक प्रस्ताव पर विचार कर रहा है जिसमें डिजिटल माध्यम से भुगतान करने वालों को एमआरपी पर छूट (डिस्काउंट) दिया जाए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
डिजिटल पेमेंट पर मोदी सरकार ला सकती है बड़ी स्कीम, आम आदमी और व्यापारियों को होगा बड़ा लाभ

डिजिटल पेमेंट पर सरकार ला सकती है बड़ी स्कीम.

खास बातें

  1. मोदी सरकार डिजिटल लेन-देन को बढ़ावा देने का प्रयास कर रही है
  2. नोटबंदी के दौरान डिजिटल लेन-देन में हुआ था इजाफा
  3. अब सरकार नई योजना के तहत इसे बढ़ावा दे सकती है.
नई दिल्ली:

डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए सरकार व्यापारियों को कैशबैक और ग्राहकों को अधिकतम खुदरा मूल्य (एमआरपी) पर छूट देने जैसे एक प्रस्ताव पर विचार कर रही है. सूत्रों के अनुसार राजस्व विभाग एक प्रस्ताव पर विचार कर रहा है जिसमें डिजिटल माध्यम से भुगतान करने वालों को एमआरपी पर छूट (डिस्काउंट) दिया जाए. यह छूट 100 रुपये अधिकतम रखी जा सकती है. 

वहीं दूसरी तरफ व्यापारियों को कैशबैक की सुविधा दी जा सकती है जो डिजिटल माध्यम से किए गए कारोबार के स्तर पर आधारित होगी. 

पढ़ें - Google भारत में लाएगी यूपीआई आधारित पेमेंट सर्विसः रिपोर्ट

संभावना है कि इस प्रस्ताव को 4 मई को होने वाली जीएसटी परिषद की बैठक में रखा जाए. इस परिषद में सभी राज्यों के वित्तमंत्री शामिल हैं एवं वित्तमंत्री अरुण जेटली इसके अध्यक्ष हैं. 


पढ़ें - BHIM ऐप इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों को मिलेगा 750 रुपये तक कैशबैक

टिप्पणियां

सूत्रों के अनुसार इस प्रस्ताव पर प्रधानमंत्री कार्यालय में हुई बैठक में विचार-विमर्श किया गया. इस बैठक में व्यापारियों को कैशबैक के अलावा टैक्स क्रेडिट लेने के विकल्प पर भी विचार किया गया. लेकिन राजस्व विभाग ने कैशबैक के विकल्प को चुना क्योंकि इसे लागू करना आसान है.

VIDEO: पीएम मोदी करते रहे डिजिटल पेमेंट की वकालत

प्रधानमंत्री कार्यालय में हुई बैठक में प्रत्यक्ष कर की ओर से भी डिजिटल लेनदेन के लिए किसी तरह का प्रोत्साहन देने के विकल्प पर भी विचार किया गया.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... NRC का क्या होगा असर? जबेदा बेगम के बाद अब पढ़िए फखरुद्दीन की दर्दभरी दास्तां, नागरिकता साबित करने में जुटे 19 लाख

Advertisement