सरकार ने पहली राष्ट्रीय सॉफ्टवेयर नीति का मसौदा जारी किया, 2025 तक 35 लाख नौकरियों पर नजर

सरकार ने पहली राष्ट्रीय सॉफ्टवेयर नीति का मसौदा जारी किया, 2025 तक 35 लाख नौकरियों पर नजर

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली:

सरकार ने देश में पहली बार राष्ट्रीय सॉफ्टवेयर नीति का मसौदा जारी किया है. इसका लक्ष्य वैश्विक बाजार में भारतीय सॉफ्टवेयर उत्पादों की 10 गुना हिस्सेदारी बढ़ाना है, जो करीब 148 अरब डॉलर मूल्य की होगी और इससे 2025 तक 35 लाख रोजगारों का निर्माण होगा.

मसौदे के अनुसार यह नीति 2025 तक वैश्विक सॉफ्टवेयर उत्पाद बाजार में हिस्सेदारी को 10 गुना बढ़ाने का प्रयास करेगी और इसके लिए सॉफ्टवेयर उत्पादों की स्थानीय घरेलू या अंतरराष्ट्रीय बाजार तक पहुंच को आसान बनाया जाएगा. इससे 2025 तक प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष तौर पर 35 लाख नौकरियों का सृजन होगा.

वर्तमान में वैश्विक सॉफ्टवेयर उत्पाद उद्योग के 411 अरब डॉलर होने का अनुमान है और 2025 तक इसके 1,000 अरब डॉलर तक पहुंच जाने की उम्मीद है.

Newsbeep

मसौदे के अनुसार, 'हालांकि भारत का सॉफ्टवेयर उत्पाद उद्योग अभी शैशवास्था में है. भारत में इस उद्योग की कुल आय 6.1 अरब डॉलर है, जिसमें से करीब दो अरब डॉलर का निर्यात हो जाता है.' अनुमान के मुताबिक वैश्विक सॉफ्टवेयर उत्पाद उद्योग में भारत की हिस्सेदारी 1.48 प्रतिशत है और सरकार का लक्ष्य इसे 10 गुना बढ़ाकर 2025 तक 148 अरब डॉलर करने का है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)