जीएसटी लागू होने से पहले 761 दवाओं के अस्थायी अधिकतम मूल्य तय

राष्ट्रीय दवा मूल्य निर्धारण प्राधिकरण ने कहा कि दवाओं की कीमत अंतिम तौर पर नई अप्रत्यक्ष कर प्रणाली लागू होने के बाद तय की जाएगी.

जीएसटी लागू होने से पहले 761 दवाओं के अस्थायी अधिकतम मूल्य तय

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली:

राष्ट्रीय दवा मूल्य निर्धारण प्राधिकरण (एनपीपीए) ने वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) व्यवस्था के लागू होने से पहले 761 दवाओं के अस्थायी अधिकतम मूल्य की घोषणा कर दी है. इनमें कैंसर-रोधी, एचआईवी-एड्स, मधुमेह और एंटीबायोटिक दवाएं शामिल हैं.

एनपीपीए ने कहा कि दवाओं की कीमत अंतिम तौर पर नई अप्रत्यक्ष कर प्रणाली लागू होने के बाद तय की जाएगी. इसमें हर राज्य के आधार पर दो से तीन प्रतिशत की घट-बढ़ हो सकती है. प्राधिकरण के चेयरमैन भूपेंद्र सिंह ने कहा कि कंपनियों के लिए जीएसटी में स्थानांतरण को आसान बनाने के लिए हमने 761 दवाओं की अस्थायी तौर पर अधिकतम मूल्य घोषित कर दिए हैं.

उन्होंने कहा कि जीएसटी लागू होने के बाद दवाओं के वास्तिवक मूल्य में दो से तीन प्रतिशत के दायरे में बदलाव आएगा. एनपीपीए ने दवा कंपनियों से कहा है कि मूल्य सूची को जांच लें और इसमें यदि किसी तरह के सुधार की जरूरत है तो उसे 29 जून तक बताए. देश में जीएसटी व्यवस्था 1 जुलाई से लागू होनी है.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com