NDTV Khabar

जीएसटी : नई टैक्स दरों के बाद सैलानियों का भारत आना महंगा होगा

नए जीएसटी रेट्स को लेकर पर्यटन व्यावसायियों के जेहन में चिंता छा गई है. भारत आना अब सैलानियों के लिए और महंगा हो सकता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जीएसटी : नई टैक्स दरों के बाद सैलानियों का भारत आना महंगा होगा

जीएसटी : नई टैक्स दरों के बाद सैलानियों का भारत आना महंगा होगा- प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. 5000 रुपये कमरे पर अब तक 12 से 18 फीसदी टैक्स लगता है
  2. जीएसटी दरों के मुताबिक यह दर प्रति कमरा 28 फीसदी हो गई है
  3. इससे टूरिज्म पर पड़ सकता है नकारात्मक असर
नए जीएसटी रेट्स को लेकर पर्यटन व्यावसायियों के जेहन में चिंता छा गई है. भारत आना अब सैलानियों के लिए और महंगा हो सकता है. हाल ही में GST की नयी टैक्स दरों के मुताबिक कोई भी होटल जो 5000 रुपये कमरे के लिए किराया लेता है जिस पर 12 से 18 फीसदी टैक्स लगता था, अब उस पर 28% टैक्स भरना होगा. सीधी सी बात है कि खरीदार को ही झेलना पड़ेगा.

एयर कंडीशन वाले रेस्टोरेंट और बार को भी 28% की दर से टैक्स देना होगा. पर्यटन देश में रोज़गार के अवसर उपलब्ध करवाने में तीसरे स्थान पर है. प्रत्येक सैलानी जो देश में आ कर होटल में रुकता है. उसके पीछे 28 लोगों को रोज़गार के अवसर मिलते हैं. ऐसे में टैक्स का भार इस उद्योग पर भारी पड़ सकता है. 

टिप्पणियां
गांव में हेरिटेज होटल चलने वाले संचालक चिंतित है खासकर इसलिए क्योंकि GST के दरें एक समान है. 5000 रुपये प्रति कमरे से लेकर पांच सितारा होटल या फिर विला प्रॉपर्टीज, सबको एक सामान्य तरीके से टैक्स देना होगा जो अनफेयर है. हैरिटेज होटेल असोसिएशन के जनरल सेक्रेटरी रनबीर सिंह माधवा का मानना है कि भारत का बिज़नेस दूसरे देशों में शिफ्ट हो सकता है. उन्होंने कहा- हिन्दुस्तान में टूरिज्म कम होगा और लोगों के रोज़गार पर असर पड़ेगा. पर्यटन, होटल और टूर ऑपरेटर्स अब सरकार से गुहार लगा रहे हैं कि ये टैक्स कम किया जाए. उनकी दलील है कि फ्रांस जैसे देश में 80 मिलियन पर्यटक आते हैं लेकिन वहां पर्यटन के क्षेत्र में टैक्स सिर्फ 5.5% है. 

राजस्थान असोसिएशन ऑफ टूर ऑपरेटर्स के अध्यक्ष खालिद खान का कहना है- इंडिया आना कभी भी सस्ता नहीं रहा है और हमने विदेशी एजेंट्स को इस साल के लिए होटल कमरे बेच दिए हैं. अब नयी टैक्स दारों के मुताबिक खामियाजा या तो टूर ऑपरेटर का होटल मालिक को भुगतना पड़ेगा. केरला भी एक ऐसा राज्य है जहां पर्यटन से काफी आम दानी होती है. यहां पहले ही शराबबंदी लागू होने के बाद  पर्यटन को धक्का लगा था और अब नयी टैक्स दरों को देखकर पर्यटन व्यवसाय में चिंता है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement