वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) से कीमतें नहीं बढ़ेंगी : हसमुख अधिया

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) से कीमतें नहीं बढ़ेंगी : हसमुख अधिया

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) से कीमतें नहीं बढ़ेंगी : हसमुख अधिया (प्रतीकात्मक फोटो)

खास बातें

  • वस्तु एवं सेवा कर (GST) लागू होने से कीमतें बढ़ेंगी नहीं, बोले अधिया
  • अधिया ने कहा कि अधिकांश सेवाओं पर मौजूदा 18 फीसदी कर लगेगा
  • बोले- सेवा कर में ज्यादा बढ़ोतरी नहीं होगी
नई दिल्ली:

केंद्र सरकार ने मंगलवार को कहा कि वस्तु एवं सेवा कर (GST) लागू होने से कीमतें बढ़ेंगी नहीं, बल्कि उनमें कमी आएगी. राजस्व सचिव हसमुख अधिया ने जीएसटी सम्मेलन में कहा, "केंद्र व राज्य सरकार को मिलने वाला लगभग 60 फीसदी कर वस्तुओं पर लगने वाले 14 फीसदी मूल्य संवर्धित कर (वैट) तथा 12.5 फीसदी उत्पाद कर से आता है. जीएसटी के लागू होने के बाद इन वस्तुओं की कीमतों में कमी होने की संभावना है."

अधिया ने कहा कि अधिकांश सेवाओं पर मौजूदा 15 फीसदी सेवा कर की जगह जीएसटी के तहत 18 फीसदी कर लगेगा और इनमें से अधिकांश को खरीद पर इनपुट टैक्स क्रेडिट मिलेगा जिससे लगने वाले कुल कर का आंकड़ा समान रहेगा. उन्होंने कहा, "लगभग 18 फीसदी (सेवा कर) 15 फीसदी के समतुल्य हो जाएगा. सेवा कर में ज्यादा बढ़ोतरी नहीं होगी. कुछ सेवाओं के लिए कर में मामूली रूप से वृद्धि होगी."

अधिया ने कहा, "संभावना है कि सेवा कर के लिए एक से अधिक दर होगी. यह जरूरी नहीं है कि सभी सेवाओं पर 18 फीसदी ही कर लगाया जाएगा. करों को कम रखने को ध्यान में रखा जाएगा." राजस्व सचिव ने कहा कि सरकार जल्द से जल्द प्रत्येक वस्तु पर कर की दर को अंतिम रूप देने का प्रयास करेगी. अधिया ने यह भी कहा कि सरकार की योजना जीएसटी को एक जुलाई से लागू करने की है.

उन्होंने कहा, "जीएसटी को एक जुलाई से लागू करने को लेकर हम पूरा प्रयास कर रहे हैं." राजस्व सचिव ने कहा कि लगभग 14 राज्यों ने कहा है कि वे राज्य जीएसटी (एसजीएसटी) को अगले महीने के मध्य में पारित करेंगे और मई के अंत तक सभी राज्यों में एसजीएसटी पारित हो चुका होगा.
 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com