NDTV Khabar

गुजरात के इस रेलवे स्टेशन पर मिलेगी हवाई अड्डे जैसी सुविधा

अधिकारियों ने बताया कि मंत्रालय के एक लाख करोड़ रूपये के स्टेशन पुनर्विकास कार्यक्रम के तहत स्टेशन को हवाई अड्डे जैसी कई सुविधायें उपलब्ध करायी जायेंगी. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुजरात के इस रेलवे स्टेशन पर मिलेगी हवाई अड्डे जैसी सुविधा

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली: गुजरात में गांधीनगर के बाद सूरत रेलवे स्टेशन प्रदेश में दूसरा और देश में तीसरा रेलवे स्टेशन होगा, जहां रेल मंत्रालय के पुनर्विकास कार्यक्रम के तहत विश्व स्तरीय सुविधायें विकसित की जाएंगी. अधिकारियों ने बताया कि मंत्रालय के एक लाख करोड़ रूपये के स्टेशन पुनर्विकास कार्यक्रम के तहत स्टेशन को हवाई अड्डे जैसी कई सुविधायें उपलब्ध करायी जायेंगी. 

अधिकारियों ने बताया कि आईआरएसडीसी, सूरत नगर निगम और गुजरात राज्य पथ परिवहन निगम के संयुक्त उपक्रम सिटको ने स्टेशन पर मल्टी मोडल परिवहन केंद्र विकसित करने के लिये रिक्वेस्ट फॉर क्वालिफिकेशन (आरएफक्यू) और रिक्वेस्ट फॉर प्रपोजल (आरएफपी) आमंत्रित किए हैं.

उन्होंने बताया कि इस हब को तकरीबन पांच हजार करोड़ रूपये की लागत से विकसित किया जायेगा और उम्मीद है कि यह 2020 तक बनकर तैयार हो जायेगा. 

भारतीय रेलवे स्टेशन विकास निगम लिमिटेड (आईआरएसडीसी) के प्रबंध निदेशक एस के लोहिया ने बताया कि यह यह अलग तरह की परियोजना है, जिसके पुनर्विकास के लिए तीन स्तर की सरकार साथ आयेगी. ऐसा पहली बार होगा जब केंद्र, प्रदेश और स्थानीय निकाय मिलकर लैंड पूल करेंगे. इसका निर्माण कार्य साल के अंत तक शुरू होगा. 

टिप्पणियां
उन्होंने बताया कि यह रेलवे स्टेशन 3, 19, 700 वर्ग मीटर में बनेगा. इसमें 40, 724 वर्ग मीटर क्षेत्र में बस टर्मिनल भी बनेगा. देश के दो अन्य विश्व स्तरीय रेलवे स्टेशन हबीबगंज और गांधीनगर अगले साल की शुरूआत तक बनकर तैयार हो जाएंगे.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement