NDTV Khabar

कर्मचारियों का HRA बढ़ने से खुदरा मुद्रास्फीति 0.35 प्रतिशत बढ़ी

सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के तहत केंद्र सरकार के कर्मचारियों का आवास भत्ता (HRA) बढ़ने से उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) आधारित मुद्रास्फीति पर करीब 0.35 प्रतिशत असर पड़ा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कर्मचारियों का HRA बढ़ने से खुदरा मुद्रास्फीति 0.35 प्रतिशत बढ़ी

प्रतीकात्मक फोटो

मुंबई: सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के तहत केंद्र सरकार के कर्मचारियों का आवास भत्ता (HRA) बढ़ने से उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) आधारित मुद्रास्फीति पर करीब 0.35 प्रतिशत असर पड़ा है. रिजर्व बैंक के मौद्रिक नीति विभाग के एक शोध पत्र में यह बात कही गयी है. सातवें वेतन आयोग के तहत संशोधित एचआरए जुलाई 2017 से अमल में आया.

‘सीपीआई मुद्रास्फीति पर आवास किराया भत्ते में वृद्धि का प्रभाव’ शीर्षक से जारी पत्र में कहा गया है, ‘‘उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति के विश्लेषण से पता चलता है कि सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के अनुसार एचआरए में वृद्धि से खुदरा मुद्रास्फीति करीब 0.35 प्रतिशत बढ़ी.’’

टिप्पणियां
इसमे कहा गया है कि कुछ राज्यों ने अपने कर्मचारियों के लिये वेतन और भत्ते में उतनी ही वृद्धि की है लेकिन घोषणा और वास्तविक वितरण में प्रशासनिक देरी तथा राज्यों द्वारा आंशिक वितरण जैसे कारणों से आंकड़े में उसका प्रभाव नहीं दिख रहा.’’

सातवें केंद्रीय वेतन आयोग की सिफारिशों के तहत सरकारी कर्मचारियों का मूल वेतन 2.57 गुना बढ़ा है. सीपीआई में आवास एक महत्वपूर्ण कारक है. इसका भारांश 10.07 प्रतिशत है. आवास खंड में आवास किराया का भारांश 9.51 प्रतिशत तथा अन्य विविध आवास सेवा 0.56 प्रतिशत है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement