मैं कोई भगोड़ा नहीं हूं, जांचकर्ताओं के साथ सहयोग करता रहूंगा : विजय माल्या

मैं कोई भगोड़ा नहीं हूं, जांचकर्ताओं के साथ सहयोग करता रहूंगा : विजय माल्या

विजय माल्या (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

लंबे समय से बंद पड़ी कंपनी किंगफिशर एयरलाइंस पर भारी बकाए को लेकर निशाने पर आए विजय माल्या ने रविवार को कहा कि वह कर्जदाताओं को अतिरिक्त भुगतान के जरिये बैंकों के साथ 'एकमुश्त निबटारा' करने का प्रयास कर रहे हैं। हालांकि उन्होंने व्यक्तिगत रूप से 'कर्जदार' होने के आरोपों को खारिज कर दिया। इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि सभी प्रकार के कर्जों के लिए उन्हें ही जिम्मेदार ठहराने का दुष्प्रचार अभियान चलाया जा रहा है।

डियाजिओ के साथ एक सौदे के बाद ज्यादा समय इंग्लैंड में गुजारने और खुद पर लगे 'भगोड़ा' होने के आरोपों से इनकार करते हुए शराब कारोबारी माल्या ने कहा कि वह लंबे समय से बंद एयरलाइंस कंपनी किंगफिशर को बैंकों द्वारा ऋण उपलब्ध कराये जाने के संबंध में जांच एजेंसियों के साथ सहयोग जारी रखेंगे।

यूनाइटेड स्प्रिट्स लिमिटेड के 7.5 करोड़ डॉलर के कर्ज का भुगतान डियाजिओ द्वारा किए जाने के बदले वह इस कंपनी के चेयरमैन का पद छोड़ने पर सहमत हुए हैं। माल्या ने जोर देकर कहा कि वह 'कर्जदार या जान बूझकर ऋण अदायगी में चूक करने वाले' नहीं हैं।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उन्होंने आरोप लगाया कि भारतीय स्टेट बैंक को लंबे समय से किंगफिशर की वित्तीय परेशानियों के बारे में पता था। स्टेट बैंक ने उन्हें ऋण वसूली अधिकरण (डीआरटी) में घसीटा है और उनकी गिरफ्तारी और उनका पासपोर्ट जब्त किए जाने की मांग की है।

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है)