NDTV Khabar

पिछले साल बाजार में उतरे 65 प्रतिशत आईपीओ ने दिया बेहतर रिटर्न

वर्ष 2017-18 के दौरान जितने प्रारम्भिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) पूंजी बाजार में आये उनमें से 65 प्रतिशत कंपनियों के शेयर सूचीबद्ध होने के बाद निर्गम मूल्य से काफी ऊपर चल रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पिछले साल बाजार में उतरे 65 प्रतिशत आईपीओ ने दिया बेहतर रिटर्न

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली: पिछले वित्त वर्ष में प्राथमिक पूंजी बाजार निवेशकों के लिये कमाई के लिहाज से बेहतर रहा. वर्ष 2017-18 के दौरान जितने प्रारम्भिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) पूंजी बाजार में आये उनमें से 65 प्रतिशत कंपनियों के शेयर सूचीबद्ध होने के बाद निर्गम मूल्य से काफी ऊपर चल रहे हैं.

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) में सूचीबद्ध होने वाली नई कंपनियों के विश्लेषण से पता चलता है कि मार्च 2018 को समाप्त वित्त वर्ष में 41 कंपनियां पूंजी बाजार में उतरी उनमें से 27 कंपनियों के शेयर सूचीबद्ध होने के बाद उनके इश्यू मूल्य से काफी ऊपर चल रहे हैं. हालांकि , शेष 14 कंपनियों को निवेशकों का समर्थन नहीं मिल पाया और उनके शेयर निर्गम मूल्य से नीचे चल रहे हैं.

जिन कंपनियों के शेयर मूल्य उनके निर्गम मूल्य से ऊपर चल रहे हैं उनमें निवेशकों को एक प्रतिशत से लेकर 325 प्रतिशत तक का फायदा हुआ है. गत 27 अप्रैल के कारोबारी सत्र की समाप्ति पर 27 सूचीबद्ध कंपनियों में से छह के शेयरों में निवेशकों को 100 प्रतिशत से ज्यादा का लाभ हुआ.

शंकर बिल्डिंग प्राडक्ट्स का शेयर पिछले साल अप्रैल में बाजार में सूचीबद्ध हुआ , उसके बाद से उसके शेयर मूल्य में सबसे ज्यादा 325 प्रतिशत तक का उछाल दर्ज किया गया है. एपेक्स फ्रोजन फूड्स की प्रारम्भिक बिक्री पेशकश के सूचीबद्ध होने के बाद उसमें 270 प्रतिशत तक वृद्धि दर्ज की गई जबकि सालासर टैक्नो इंजीनियरिंग ने निवेशकों को 258 प्रतिशत तक का रिटर्न दिया है.

टिप्पणियां
इसके साथ ही एस्ट्रोन पेपर एण्ड बोर्ड मिल्स और पीएसपी प्रोजैक्ट्स प्रत्येक का शेयर सूचीबद्ध होने के बाद 174 प्रतिशत चढ़ गया. एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक भी सूचीबद्ध होने के बाद 103 प्रतिशत ऊपर पहुंच गया.

निवेशकों को आकर्षक रिटर्न देने वाले अन्य आईपीओ में सीडीएसएल, डिक्सन टैक्नालाजीज, बंधन बैंक, कोचीन शिपयार्ड, गोदरेज एग्रोवेट, प्रताप स्नेक्स और सिक्युरिटज एण्ड इंटैलीजेंस सविर्सिज (इंडिया) लिमिटेड शामिल हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement