NDTV Khabar

आपके पास 2000 या 200 का नोट है तो घबराएं नहीं, जान लें ये नियम

कुछ मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि आरबीआई और सरकार की ओर से इस दिशा में अभी कोई ऐसा कदम नहीं उठाया गया है जिससे लोगों की समस्या का समाधान हो सके.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आपके पास 2000 या 200 का नोट है तो घबराएं नहीं, जान लें ये नियम

2000 रुपये का नोट.

खास बातें

  1. 2000 और 200 के नोट पहली बार जारी किए गए
  2. पहले के नियमों में इन्हें बदलने का नहीं है प्रावधान
  3. हाथ पर हाथ रखे बैठी है सरकार.
नई दिल्ली: देश के केंद्रीय बैंक आरबीआई द्वारा 200 रुपये और 2000 रुपये के नए नोट जारी किए हुए करीब डेढ़ साल हो चुके हैं. यानी इतना समय बीत चुका है कि अब ये नोट पुराने होने लगे और इनका रंग खराब होने लगे. नोट के कटने-फटने की शिकायतें भी सामने आने लगी हैं. कुछ मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि आरबीआई और सरकार की ओर से इस दिशा में अभी कोई ऐसा कदम नहीं उठाया गया है जिससे लोगों की समस्या का समाधान हो सके.

रिपोर्ट में कहा गया है कि यहां पर सरकारी हीला-हवाली, काम के प्रति उनका रवैया आश्चर्यजनक रूप से सवालों के घेरे में खड़ा होता है. सरकार के काम जहां नियमावली के हिसाब से किए जाते हैं ऐसे में अभी तक ऐसा कोई नियम नहीं बनाया गया है या फिर कहें कि पुराने नियमों में ऐसा कोई ठोस बदलाव नहीं किया गया है जिससे लोगों की दिक्कतों को समय रहते ठीक किया जा सके. रिपोर्ट में यह सवाल उठा रहे हैं कि जब यह समस्या गंभीर हो जाएगी तब तक सरकार और आरबीआई हाथ पर हाथ धरे बैठी रहेगी. 

पढ़ें - आरबीआई को था 2000 और 200 रुपये के नोट जारी करने का हक?

रिपोर्ट में दावा किया गया है कि वर्तमान स्थिति में अगर किसी वजह से 200 और 2000 रुपये के नोट यदि गंदे हो जाएं तो इन्हें न तो बैंकों में जमा किया जा सकता है और न ही इन्हें बैंकों में बदला जा सकेगा.

पढ़ें - लिखे हुए 500 और 2000 रुपये के नोट लेने से बैंक नहीं कर सकता इनकार

इसकी वजह यह है कि मौजूदा करेंसी नोटों के बदलने से जुड़े नियमों के दायरे में इन नए नोटों को लाया ही नहीं गया है. यानी केवल नियमावली में इतना सा बदलाव करना है, लेकिन यह भी अभी तक नहीं किया गया है. 

पढ़ें - 2,000 के नोट दबाकर नकदी की कमी पैदा करने का चल रहा है षड्यंत्र: शिवराज सिंह चौहान

दावा किया जा रहा है कि कटे-फटे या गंदे नोटों को बदलने का मामला आरबीआई (नोट रिफंड) नियम के तहत आता है, जो आरबीआई ऐक्ट की धारा 28 का हिस्सा है. इस ऐक्ट में 5, 10, 50, 100, 500, 1,000, 5,000 और 10,000 रुपये के करेंसी नोटों का जिक्र है, लेकिन 200 और 2,000 रुपये के नोटों को इसमें जगह नहीं दी गई है. मीडिया में इस प्रकार की खबरें आई हैं लेकिन आरबीआई की नोट बदलने को लेकर दी गई नियमावली में यह साफ लिखा गया है कि भविष्य में जारी होने वाले नोटों पर भी बदलने के नियम लागू होते हैं.
 
RBi


टिप्पणियां
पढ़ें - क्या आरबीआई ने बंद कर दी है 2,000 रुपये के नोट की छपाई?

ज्ञात हो कि 2,000 रुपये का नोट 8 नवंबर 2016 को नोटबंदी के ऐलान के बाद जारी किया गया था जबकि 200 रुपये का नोट अगस्त 2017 में जारी किया गया था. अभी 2,000 रुपये के करीब 6.70 लाख करोड़ रुपये मूल्य के नोट सर्कुलेशन में हैं और आरबीआई ने अब 2,000 रुपये के नोट छापना बंद कर दिया है. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement