NDTV Khabar

भारत में चुनावी वर्ष में जारी नही रह पायेगी आर्थिक सुधारों की रफ्तार : IMF

‘‘हमने इसे देखा और हम इसे देख रहे हैं, लेकिन मुझे नहीं लगता कि अगले कुछ महीनों में हम ऐसा देखेंगे. चुनाव आ रहे हैं.’’ 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारत में चुनावी वर्ष में जारी नही रह पायेगी आर्थिक सुधारों की रफ्तार : IMF

आईएमएफ प्रमुख.

वाशिंगटन:
टिप्पणियां
अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) की प्रमुख क्रिस्टीन लेगार्ड ने आज कहा कि उन्हें नहीं लगता कि चुनावी साल में भारत में आर्थिक सुधारों की रफ्तार कायम रह पाएगी. अंतरराष्ट्रीय वित्त संगठनों की बैठक के मौके पर संवाददाताओं से बातचीत में लेगार्ड ने कहा, ‘‘हमने इसे देखा और हम इसे देख रहे हैं, लेकिन मुझे नहीं लगता कि अगले कुछ महीनों में हम ऐसा देखेंगे. चुनाव आ रहे हैं.’’ 

उन्होंने कहा कि चुनावी साल में आर्थिक सुधारों की रफ्तार कायम नहीं रह पाएगी.  उन्होंने कहा, ‘‘चाहे आप जीएसटी की बात करें या दिवाला कानून पर सुधारों की , ये अच्छे सुधार हैं. हम और सुधार चाहते हैं चाहे वे बैंकिंग क्षेत्र में हों या किसी अन्य क्षेत्र में.’’  आईएमएफ ने मंगलवार को कहा था कि 2018 में भारत की वृद्धि दर 7.4 प्रतिशत रहेगी जो 2019 में बढ़कर 7.8 प्रतिशत पर पहुंच जाएगी.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement