Good News: इनकम टैक्स से जुड़े हर सवाल का जवाब अब लाइव चैट से, जानिए कैसे

आईटी विभाग ने करदाताओं की समस्याओं और सवालों के समाधान के लिए 'ऑनलाइन चैट' सेवा शुरू की है. इस सेवा के जरिए करदाता प्रत्यक्ष टैक्स मुद्दों से जुड़े अपने तमाम सवालों के जवाब हासिल कर सकेंगे.

Good News: इनकम टैक्स से जुड़े हर सवाल का जवाब अब लाइव चैट से, जानिए कैसे

आईटी विभाग ने करदाताओं की समस्याओं और सवालों के समाधान के लिए 'ऑनलाइन चैट' सेवा शुरू की है.

खास बातें

  • आईटी विभाग ने शुरू की वीडियो चैट सेवा.
  • करदाताओं की समस्याओं और सवालों के समाधान के लिए शुरू किया.
  • सुबह 10 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक कर सकते हैं लाइव चैट.
नई दिल्ली:

आईटी विभाग ने करदाताओं की समस्याओं और सवालों के समाधान के लिए 'ऑनलाइन चैट' सेवा शुरू की है. इस सेवा के जरिए करदाता प्रत्यक्ष टैक्स मुद्दों से जुड़े अपने तमाम सवालों के जवाब हासिल कर सकेंगे. इस सेवा से बड़ी संख्या में करदाताओं को लाभ होगा. यह सेवा इनकम टैक्स विभाग की वेबसाइट के मेन पेज www.incometaxindia.gov.in पर उपलब्ध है. इस पेज पर अब यूजर्स को 'लाइव चैट ऑनलाइन- आस्क यॉर क्वेरी' का विकल्प नजर आएगा.

पढ़ें- इनकम टैक्स विभाग के कर्मचारियों ने दी देशव्यापी हड़ताल की धमकी, जानें वजह

डिपार्टमेंट ने इसके लिए अपने एक्सपर्ट के साथ-साथ सीए की एक टीम का गठन किया है, जो सभी सवालों का जवाब देगी. इस सिस्टम को आगे लोगों द्वारा मिलने वाले फीडबैक के अनुसार अपग्रेड किया जाएगा. ये लाइव चैट आप सुबह 10 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक कर सकते हैं.

पढ़ें- पैन कार्ड में कुछ गलती है...? ठीक करवाने के लिए ये स्टेप करें फॉलो​
 

income tax

सवाल पूछने के लिए ई-मेल आईडी जरूरी
टैक्सपेयर के पास अपनी ई-मेल आईडी होना जरूरी है, जिसके बाद वो अपने सवाल पूछ सकता है. इस ई-मेल आईडी का इस्तेमाल पूरी चैट भेजने के लिए किया जाएगा.  लोग गेस्ट के तौर पर भी चैट ऑप्शन का इस्तेमाल कर सकेंगे. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पढ़ें- आयकर विभाग की इस कार्रवाई से बिहार के सभी राजनीतिक दलों के सामने आया संकट

विभाग के अधिकारी ने नाम गुप्त रखने की शर्त पर बताया, "विभाग से विशेषज्ञों और स्वतंत्र प्रैक्टिस करने वाले लोगों की एक टीम तैयार की गई है, जो इस सेवा के जरिए सामान्य सवालों का जवाब देंगे. इस सेवा का मुख्य मकसद देशे में करदाताओं को मिलने वाली सेवा को बढ़ाना है." उन्होंने कहा कि इस चैट सिस्टम में अन्य कई फीचर और जोड़े जाएंगे. यह सभी विभाग को मिलने वाले फीडबैक पर आधारित होंगे. उन्होंने कहा, "चैट करने वाला व्यक्ति पूरी चैट खुद को ई-मेल भी कर पाएगा. इस सेवा में यह सुविधा भी शामिल की गई है."