भारत में कंपनियों के लिए काम बेहतर करने के अवसर

खास बातें

  • एआईएमए एवं मर्कर के संयुक्त सर्वेक्षण के अनुसार भारत में कंपनियों का प्रबंध उनकी क्षमता से कम स्तर पर हो रहा है।
New Delhi:

भारत में बहुत कंपनियों का प्रबंध अपनी क्षमता के औसतन तीन चौथाई पर ही काम कर रहा है और उनके पास अपना कामकाज सुधारने की बड़ी संभावनाएं हैं। अखिल भारतीय प्रबंधन एसोसिएशन :एआईएमए: एवं वैश्विक परामर्शदाता कंपनी मर्कर के संयुक्त सर्वेक्षण के अनुसार भारत में कंपनियों का प्रबंध उनकी क्षमता से कम स्तर पर हो रहा है। इसमें सुधार के पर्याप्त अवसर हैं। विभिन्न मानकों के आधार पर किए गए इस सर्वे के आधार पर तैयार प्रबंध क्षमता सूचकांक :एमसीआई: के अनुसार भारत में कंपनियों ने 2010 में कुल मिला कर अपनी प्रबंधकीय क्षमता के 74.6 प्रतिशत का उपयोग किया। इसका मतलब भारतीय प्रबंधन अपनी कुल क्षमता का तीसरा अथवा चौथाई हिस्सा ही प्रयोग करता है जबकि इसके पास सुधार के पर्याप्त अवसर उपलब्ध हैं।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com