NDTV Khabar

चालू वित्त वर्ष में भारत की वृद्धि दर 7.5 प्रतिशत रहेगी : डॉयचे बैंक

भारतीय रिजर्व बैंक ने आर्थिक वृद्धि दर 2017-18 में 6.6 प्रतिशत से बढ़कर चालू वित्त वर्ष में 7.4 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया है. निवेश गतिविधियों में सुधार के चलते तेजी की उम्मीद है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
चालू वित्त वर्ष में भारत की वृद्धि दर 7.5 प्रतिशत रहेगी : डॉयचे बैंक

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली: भारतीय अर्थव्यवस्था वृद्धि के रास्ते पर आगे बढ़ रही है और चालू वित्त वर्ष में आर्थिक वृद्धि की दर 7.5 प्रतिशत तक पहुंच जाने का अनुमान है. वैश्विक वित्तीय सेवा प्रदाता फर्म डॉयचे बैंक ने अपनी रिपोर्ट में यह बात कही. बैंक ने कहा कि 2018-19 के लिए आर्थिक वृद्धि दर 7.5 प्रतिशत रहने का अनुमान है. वहीं, भारतीय रिजर्व बैंक ने आर्थिक वृद्धि दर 2017-18 में 6.6 प्रतिशत से बढ़कर चालू वित्त वर्ष में 7.4 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया है. निवेश गतिविधियों में सुधार के चलते तेजी की उम्मीद है.

हालांकि, रिपोर्ट में कहा गया है कि कच्चे तेल की बढ़ती कीमतें, आरबीआई द्वारा अनुमान से पहले दरों में वृद्धि का चक्र शुरू करने, बैंकिंग क्षेत्र में धोखाधड़ी का कर्ज और समग्र वृद्धि पर नकारात्मक प्रभाव पड़ने की आशंका जैसे कुछ कारक हैं जो सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के पूर्वानुमान के लिए जोखिम खड़ा कर सकते हैं. 

टिप्पणियां
कच्चे तेल की कीमत वर्तमान में 75 डॉलर प्रति बैरल के आसपास है, जो कि दिसंबर 2017 के स्तर से 12 प्रतिशत ज्यादा है. रिपोर्ट के मुताबिक तेल कीमतों में 10 डॉलर की बढ़ोत्तरी से आर्थिक वृद्धि दर में 0.10 प्रतिशत तथा अन्य कारक वृद्धि दर को 0.15 से 0.20 प्रतिशत और कम कर सकते हैं. 

इसमें कहा गया है कि तेल कीमतों में वृद्धि से सुधार की गति धीमी पड़ सकती है, इसके बावजूद 2018-19 और उससे आगे क्रमिक रूप से आर्थिक गति में सुधार होगा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement