NDTV Khabar

भारत की आर्थिक वृद्धि दर इस साल 7.1 प्रतिशत रहने का अनुमान : संयुक्त राष्ट्र रिपोर्ट

23 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारत की आर्थिक वृद्धि दर इस साल 7.1 प्रतिशत रहने का अनुमान : संयुक्त राष्ट्र रिपोर्ट

भारत की आर्थिक वृद्धि दर इस साल 7.1 प्रतिशत रहने का अनुमान : संयुक्त राष्ट्र रिपोर्ट (प्रतीकात्मक फोटो)

संयुक्त राष्ट्र: संयुक्त राष्ट्र की एक रपट के अनुसार भारत की आर्थिक वृद्धि दर इस साल 7.1 प्रतिशत और अगले वर्ष यानी 2018 में 7.5 प्रतिशत रहने का अनुमान है. एशिया प्रशांत क्षेत्र के लिए संयुक्त राष्ट्र आर्थिक व सामाजिक आयोग (इस्केप) की कल जारी ‘एशिया प्रशांत क्षेत्र का आर्थिक व सामाजिक सर्वे 2017’ में यह अनुमान लगाया गया है.

रपट के अनुसार 2018 में बढ़कर 7.5 प्रतिशत होने से पहले इस साल 2017 में भारत की वृद्धि दर 7.1 प्रतिशत रहने का अनुमान है. रपट के अनुसार उच्च निजी व सार्वजनिक खपत तथा बुनियादी ढांचे पर खर्च में बढोतरी से आर्थिक वृद्धि दर को बल मिलेगा.

रपट में कहा गया है, ‘पुनर्मुद्रीकरण से उपभोग तथा बुनियादी ढांचा खर्च बढेगा जिससे इस साल वृद्धि दर 7.1 प्रतिशत रहने का अनुमान है.’ इसके अनुसार 2017 और 2018 में मुद्रास्फीति 5.3-5.5 प्रतिशत के दायरे में रहने का अनुमान है जो कि 4.5-5 प्रतिशत के आधिकारिक आंकड़े से कुछ उपर है. हालांकि रपट में सार्वजनिक बैंकों के बढ़ते खराब कर्जों के कारण वित्तीय क्षेत्र से जुड़े जोखिमों के प्रति आगाह किया गया है.

इसके अनुसार सार्वजनिक बैंकों की सकल गैर निष्पादित आस्तियां 2016 में बढ़कर लगभग 12 प्रतिशत हो गईं। रपट में बंकों में और पूंजी डालने की जरूरत को रेखांकित किया गया है. रपट में कहा गया है कि नोटबंदी के कारण 2016 के आखिर तथा 2017 के शुरू में आर्थिक गतिविधियों पर असर पड़ा. नकदी की कमी के कारण वेतन भुगतान में देरी हुई जबकि औद्योगिक क्षेत्र में कच्चा माल खरीद में भी देरी हुई.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement