NDTV Khabar

अर्थव्यवस्था की स्थिति में सुधार सरकार के भविष्य के कदमों पर निर्भर

नोटबंदी और माल एवं सेवा कर (जीएसटी) जैसे संरचनात्मक सुधारों के प्रभाव के बाद हाल के समय कई मानकों पर सुधार देखा जा रहा है.

58 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
अर्थव्यवस्था की स्थिति में सुधार सरकार के भविष्य के कदमों पर निर्भर

जीएसटी तथा नोटबंदी के कारण भारतीय अर्थव्यवस्था को मंदी का सामना करना पड़ रहा है

नई दिल्ली: भारतीय अर्थव्यवस्था अपने निचले स्तर को छूने के बाद अब उबरने लगी है. हालांकि, अर्थव्यवस्था की सुधार की रफ्तार काफी हद तक सरकार द्वारा अब से आगे लिए जाने वाले कदमों पर निर्भर करेगी. डन एंड ब्रैडस्ट्रीज के ताजा इकनॉमी आब्जर्वर इंडेक्स में यह निष्कर्ष निकाला गया है. 

रिपोर्ट में कहा गया है कि नोटबंदी और माल एवं सेवा कर (जीएसटी) जैसे संरचनात्मक सुधारों के प्रभाव के बाद हाल के समय कई मानकों पर सुधार देखा जा रहा है. डन एंड ब्रैडस्ट्रीट इंडिया के लीड अर्थशास्त्री अरुण सिंह ने कहा किअर्थव्यवस्था अपने निचले स्तर से बाहर आ चुकी है.

पढ़ें:  नोटबंदी और GST ने भारतीय अर्थव्यवस्था को ‘और अधिक मजबूत रास्ते’ पर ला दिया

हालांकि, अर्थव्यवस्था में सुधार की रफ्तार सरकार के अब से आगे उठाए जाने वाले कदमों पर निर्भर करेगी. यह देखना होगा कि सरकार वृद्धि को रफ्तार देने के लिए क्या कदम उठाती है. विशेषरूप से निजी क्षेत्र के निवेश पर सभी की निगाह होगी क्योंकि इसके बिना हम महत्वाकांक्षी वृद्धि दर के लक्ष्य को नहीं पा सकते.

टिप्पणियां
VIDEO: जीएसटी का अर्थव्यवस्था पर क्या प्रभाव पड़ा है?
उन्होंने कहा कि नोटबंदी ओर जीएसटी जैसे सुधार का प्रभाव काफी हद तक अनुमानित था, लेकिन प्रभाव कितना होगा यह आकलन नहीं लगाया गया था. कुछ मानदंडों पर सुधार हुआ है. उम्मीद करेंगे कि औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर टिकाऊ रहे और इसकी वजह सिर्फ त्योहारी मांग न हो.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement