NDTV Khabar

मुद्रास्फीति, आईआईपी आंकड़े और मॉनसून से तय होगी बाजार की चाल

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नई दिल्ली:

वृहद आर्थिक आंकड़े, विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) का रुख, मॉनसून की प्रगति और वैश्विक संकेतक इस सप्ताह शेयर बाजार की दिशा तय करेंगे। विशेषज्ञों ने यह राय जाहिर की है।

वृहद आर्थिक मोर्चे पर अप्रैल के लिए औद्योगिक उत्पादन (आईआईपी) के आंकड़े गुरुवार को आएंगे। उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मई माह के मुद्रास्फीति के आंकड़ों की घोषणा भी गुरुवार को होगी, जबकि थोक मूल्य सूचकांक आधारित आंकड़े 16 जून को जारी किए जाएंगे।

रेलिगेयर सिक्योरिटीज लिमिटेड के खुदरा वितरण विभाग के अध्यक्ष जयंत मांगलिक ने कहा, मौजूदा धारणा पर विचार करते हुए हमारा मानना है कि आने वाले सप्ताहों में बाजार में तेजी जारी रहेगी। इस सप्ताह आईआईपी और मुद्रास्फीति दो महत्वपूर्ण आंकड़े आएंगे और इससे बाजार में दिन के कारोबार में उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकता है।

जयंत मांगलिक ने कहा कि आने वाले दिनों में निफ्टी 7,800 अंक की ऊंचाई को छू सकता है और इस स्तर पर मुनाफावसूली होने से यह 7,350 अंक के स्तर तक टूट सकता है और वहां उसे फिर से समर्थन प्राप्त हो सकता है। विशेषज्ञों ने कहा कि मॉनसून की शुरुआत से खाद्यान्न की कीमतें नरम पड़ सकती हैं, जिससे रिजर्व बैंक को मुद्रास्फीति को नियंत्रित करने में मदद मिलेगी।

मौसम विभाग के अधिकारियों ने कहा कि दक्षिण पश्चिम मानसून केरल के तट पर शुक्रवार को पहुंचा, लेकिन अभी यह सुस्त बना हुआ है और मध्य भारत की ओर 25 जून के बाद ही बढ़ेगा। बाजार सूत्रों ने कहा कि बाजार के लिए अगला उत्प्रेरक वित्तवर्ष 2014-15 का केंद्रीय बजट है, जिसके जुलाई में आने की संभावना है।

कोटक सिक्योरिटीज के निजी ग्राहक समूह के प्रमुख दीपेन शाह ने कहा, हम देख रहे हैं कि बजट और मॉनसून बाजार के लिए दो महत्वपूर्ण उत्प्रेरक होंगे।

इस बीच, बंबई शेयर बाजार के सेंसेक्स ने 16 मई को कारोबार के दौरान हासिल 25,375.63 अंक की रिकॉर्ड ऊंचाई को बीते सप्ताह लांघ लिया और यह 25,419.14 अंक की नई रिकॉर्ड ऊंचाई को छू गया। सप्ताह के दौरान सेंसेक्स 1,179.12 अंक यानी 4.87 प्रतिशत की जोरदार वृद्धि के साथ 25,396.46 अंक पर बंद हुआ।

टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement