NDTV Khabar

विशाल सिक्का के हटते ही इंफोसिस की मुश्किलें बढ़ीं, अमेरिका में शुरू हुई जांच

अमेरिका की चार कानून कंपनियों ने सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) कंपनी इंफोसिस के खिलाफ जांच शुरू की है. उन्होंने इंफोसिस के निवेशकों की तरफ से इन संभावित दावों की जांच शुरू की है कि क्या कंपनी या उसके अधिकारियों एवं निदेशकों ने संघीय सुरक्षा नियमों का उल्लंघन किया है.

105 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
विशाल सिक्का के हटते ही इंफोसिस की मुश्किलें बढ़ीं, अमेरिका में शुरू हुई जांच

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  1. चार अमेरिकी कानून कंपनियों ने शुरू की जांच
  2. विशाल सिक्का ने दो दिन पहले ही दिया था इस्तीफा
  3. इंफोसिस का निवेशकों को गलत कारोबारी सूचनाएं देने का आरोप
नई दिल्ली: अमेरिका की चार कानून कंपनियों ने सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) कंपनी इंफोसिस के खिलाफ जांच शुरू की है. उन्होंने इंफोसिस के निवेशकों की तरफ से इन संभावित दावों की जांच शुरू की है कि क्या कंपनी या उसके अधिकारियों एवं निदेशकों ने संघीय सुरक्षा नियमों का उल्लंघन किया है. यह जांच ऐसे समय में शुरू हुई है जब इंफोसिस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) विशाल सिक्का ने कंपनी संचालन में गड़बड़ी के आरोप लगाए जाने के कारण दो दिन पहले ही पद से इस्तीफा दिया है.

यह भी पढ़ें : इंफोसिस के सीईओ विशाल सिक्‍का ने आखिर इस्‍तीफा क्‍यों दिया? जानें 5 वजहें

जांच शुरू करने वाली कानून कंपनियां ब्रोंसटाइन, गेविर्ज एंड ग्रॉसमैन, रोसेन लॉ फर्म, पोमेरांत्ज लॉ फर्म और गोल्डबर्ग लॉ पीसी हैं. रोसेन ने एक बयान में बताया कि वह इंफोसिस के शेयरधारकों की ओर से संभावित सुरक्षा दावों की जांच कर रही है. आरोप है कि इंफोसिस ने निवेशकों को गलत कारोबारी सूचनाएं दी थी. 

यह भी पढ़ें : विशाल सिक्‍का के इस्‍तीफे के अगले ही दिन इंफोसिस ने 13 हजार करोड़ का प्‍लान पेश किया

VIDEO: इंफोसिस के CEO का इस्तीफा, कंपनी के शेयर गिरे

13 हजार करोड़ का प्‍लान
गौरतलब है कि इंफोसिस के सीईओ और एमडी विशाल सिक्‍का के इस्‍तीफा देने के अगले ही दिन इंफोसिस ने 13 हजार करोड़ का प्‍लान पेश किया है. इसके तहत देश की दूसरी सबसे बड़ी सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) कंपनी इंफोसिस के निदेशक मंडल ने 13 हजार करोड़ रुपये तक के शेयरों की पुनर्खरीद को शनिवार को मंजूरी दे दी. कंपनी ने शेयर बाजारों को बताया कि पुनर्खरीद के लिये प्रति शेयर 1,150 रुपये का भाव तय किया गया है जो शुक्रवार को बाजार बंद होते समय रहे 923.10 रुपये प्रति शेयर के स्तर से करीब 25 फीसदी अधिक है.

इनपुट: भाषा


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement