NDTV Khabar

इन्फोसिस ने योग्यता और जिम्मेदारी की अनदेखी की : नारायण मूर्ति

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
इन्फोसिस ने योग्यता और जिम्मेदारी की अनदेखी की : नारायण मूर्ति

फाइल फोटो

नई दिल्ली:

भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी उद्योग के वटवृक्ष और इन्फोसिस टेक्नोलाजीज के संस्थापक प्रमुख नएआर नारायणमूर्ति ने शनिवार को कहा कि कंपनी ने बीते दशक में योग्यता व दायित्व के पर ध्यान देना कम कर दिया था जिसके चलते उन्हें कठिन व कड़े फैसले करने पर मजबूर होना पड़ा।

नारायणमूर्ति कंपनी में अपने दूसरे कार्यकाल के आखिरी दिन यहां कंपनी की 33वीं सालाना आम बैठक को संबोधित कर रहे थे। इन्फोसिस देश की दूसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी है और नारायणमूर्ति यहां इसके शेयरधारकों को कार्यकारी चेयरमैन के रूप में अंतिम बार संबोधित कर रहे थे। वह और उनके बेटे रोहन ने समय से पूर्व आज त्यागपत्र दे दिया। इसकी घोषणा इसी सप्ताह पहले ही की जा चुकी थी।

उन्होंने कहा कि उन्होंने इन्फोसिस के बोर्ड द्वारा लगभग एक साल पहले सौंपे गए काम को पूरा किया है।

उन्होंने उम्मीद जताई कि नए सीईओ विशाल सिक्का भविष्य की रूपरेखा तय करेंगे और इसमें इन्फोसिस के संस्थापकों का कोई हस्तक्षेप नहीं होगा।

नारायणमूर्ति ने कहा, निष्पक्षता, पारदर्शिता, योग्यता व जवाबदेही किसी भी उप्रकम के लिए सफलता के लिए महत्वपूर्ण है। पिछले दशक में कंपनी ने किसी तरह योग्यता व जवाबदेही पर कम ध्यान दिया। उन्होंने सिक्का को तकनीक क्षेत्र का स्वप्नदर्शी बताया।
सिक्का की नियुक्ति की घोषणा 12 जून को की गई थी और वे आज की बैठक में शामिल नहीं हुए।

टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... 'साहेब' चार बार मुख्यमंत्री रहे, मैं किसी तरह चार मर्तबा डिप्टी सीएम बन पाया: अजित पवार

Advertisement