आयकर विभाग ने दिल्ली में पंडाल, हलवाई कारोबारियों पर मारा छापा, 100 करोड़ के कालेधन का पता लगाया

अधिकारियों ने इसकी जानकारी देते हुये कहा कि 3 मई के बाद से तीन प्रमुख पंडाल और कैटरिंग संचालकों के 43 परिसरों पर तलाशी और छानबीन की कारवाई की गई.

आयकर विभाग ने दिल्ली में पंडाल, हलवाई कारोबारियों पर मारा छापा, 100 करोड़ के कालेधन का पता लगाया

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:

आयकर विभाग ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में पंडाल और खाने की व्यवस्था करने वाले कुछ बड़े कारोबारियों पर छापे मारे जिसमें 100 करोड़ रुपये का कालाधन और अघोषित आय का पता लगा है. अधिकारियों ने इसकी जानकारी देते हुये कहा कि 3 मई के बाद से तीन प्रमुख पंडाल और कैटरिंग संचालकों के 43 परिसरों पर तलाशी और छानबीन की कारवाई की गई. इस कारवाई में अब तक उनसे 1.82 करोड़ रुपये की नकद राशि और 2.4 करोड़ रुपये के आभूषण जब्त किये गये. छापे की यह कारवाई आयकर विभाग के दिल्ली जांच इकाई ने की है. 

इन तीन पंडाल एवं कैटरिंग कारोबारियों की हालांकि पहचान नहीं हो सकी है , लेकिन ये आपरेटर ही दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में शादी - ब्याह और दूसरे पारिवारिक कार्यक्रमों के बड़े आयोजनों को करते रहे हैं. 

आयकर विभाग की टीम ने इनके मोबाइल फोन जब्त कर लिये हैं. ये लोग फोन से एसएमएस अथवा व्ह्टसअप के जरिये ही ग्राहकों से लेनदेन करते रहे हैं. 

एक वरिष्ठ अधिकारी ने पीटीआई - भाषा से कहा , ‘‘ मोबाइल फोन पर भेजे गये इन सभी संदेशों और दस्तावेजों से अघोषित नकद प्राप्ति के बारे में पता चलता है. इन्हें जब्त कर लिया गया है और इनकी जांच पड़ताल की जा रही है. ’’ 

Newsbeep

अधिकारी ने कहा कि इन कारोबारियों के करीब 15 बैंक लाकर सील कर दिये गये हैं. उन्होंने कहा कि इन मामलों में कालाधन और अघोषित आय का आंकड़ा पहली नजर में 100 करोड़ रुपये तक पहुंच सकता है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अधिकारी ने कहा कि इनमें से कुछ ने मुखौटा कंपनियों से खरीदारी दिखाकर अपने फर्जी खर्च भी दिखाये हैं. कुल मामलों में कमाई पर कर चोरी 100 प्रतिशत तक है. विभाग उन ग्राहकों की भी सूची तैयार कर रहा है जो नकद लेनदेन के जरिये इन कारोबारियों की सेवायें लेते रहे हैं.