यह ख़बर 23 फ़रवरी, 2014 को प्रकाशित हुई थी

भारत की समृद्धि के लिए रोजगार सृजन ही एकमात्र निदान : मूर्ति

भारत की समृद्धि के लिए रोजगार सृजन ही एकमात्र निदान : मूर्ति

मोहाली:

सॉफ्टवेयर क्षेत्र की प्रमुख कंपनी इंफोसिस के कार्यकारी चेयरमैन एनआर नारायणमूर्ति ने कहा है कि समाज के सभी वर्गों, राजनीतिज्ञों और कंपनियों को रोजगार के अवसर बढ़ाने के लिए काम करना चाहिए, क्योंकि भारत की समृद्धि के लिए यही एकमात्र रामबाण औषधि है। मूर्ति ने देश में प्रौद्योगिकी के बेहतर इस्तेमाल पर भी जोर दिया।

उन्होंने कहा कि भारत जैसे देशों को गरीबी दूर करने और सरकार के कामकाज में पारदर्शिता बढ़ाने के लिए प्रौद्योगिकी का कुशलता के साथ इस्तेमाल करना चाहिए, कंपनियों में भी इसे बढ़-चढ़कर अपानाया जाना चाहिए।

इंफोसिस परिसर का शिलान्यास करने के मौके पर मूर्ति ने कहा, हम सभी, चाहे वे राजनीतिज्ञ हों, सरकारी अधिकारी हों, शिक्षाविद् हों, कंपनियों के प्रमुख हों अथवा नागरिक समाज से जुड़े लोग, सभी के लिए आज सबसे बड़ी जरूरत है कि हम रोजगार सृजन पर सहमत हों, क्योंकि यही एक मात्र निदान है, जो देश को समृद्ध बना सकता है।

उन्होंने यह भी कहा कि सरकारों को कर से प्राप्त राशि का इस्तेमाल लोगों के जीवन को बेहतर बनाने में करना चाहिए। विशेष तौर पर सरकार को गरीबों के लिए शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल और दूसरी सुविधाओं पर ध्यान देना चाहिए। इस मौके पर इंफोसिस ने उम्मीद जाहिर की कि यहां 425 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले विशेष आर्थिक क्षेत्र (सेज) कैंपस पर काम वह इस साल अक्टूबर तक शुरू कर देगी।

पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने इंफोसिस के नारायणमूर्ति की उपस्थिति में परिसर का शिलान्यास किया। इंफोसिस के इस परिसर में 5,000 सॉफ्टवेयर इंजीनियरों को रोजगार मिलने की उम्मीद है।

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com