यह ख़बर 14 अगस्त, 2012 को प्रकाशित हुई थी

जुलाई में मुद्रास्फीति घटकर 7 प्रतिशत से नीचे पहुंची

जुलाई में मुद्रास्फीति घटकर 7 प्रतिशत से नीचे पहुंची

खास बातें

  • खाद्य उत्पादों की कीमतों में मामूली नरमी के बीच जुलाई महीने में मुद्रास्फीति घटकर 6.87 प्रतिशत रह गई। यह अलग बात है कि आलू, चावल तथा विनिर्मित उत्पादों के दाम इस दौरान ऊंचे बने रहे।
नई दिल्ली:

खाद्य उत्पादों की कीमतों में मामूली नरमी के बीच जुलाई महीने में मुद्रास्फीति घटकर 6.87 प्रतिशत रह गई। यह अलग बात है कि आलू, चावल तथा विनिर्मित उत्पादों के दाम इस दौरान ऊंचे बने रहे।

थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति एक महीना पहले जून में 7.25 प्रतिशत तथा पिछले साल जुलाई में 9.36 प्रतिशत रही थी।

यदि खाद्य मुद्रास्फीति की बात की जाये तो यह जुलाई महीने में घटकर 10.06 प्रतिशत रही, जो जून में 10.81 प्रतिशत पर थी। पिछले साल जुलाई में इस वर्ग में मुद्रास्फीति 8.19 प्रतिशत पर थी। थोक मूल्य सूचकांक में खाद्य जिंसों का हिस्सा 14.3 प्रतिशत है।

विनिर्माण उत्पाद श्रेणी में सूती कपड़े, कागज, कागज उत्पाद, सीमेंट तथा चूना महंगा हुआ। विनिर्माण उत्पादों की कीमतों में बढ़ोतरी की दर जुलाई में 5.58 प्रतिशत रही, जो जून में पांच प्रतिशत थी।

Newsbeep

खाद्य पदार्थों की श्रेणी में जुलाई में सालाना आधार पर आलू 73 प्रतिशत, चावल 10.12 प्रतिशत, मोटा अनाज 8.29 प्रतिशत तथा दालें 28.29 प्रतिशत महंगी हुईं। इसेक अलावा अंडा व मछली के दाम भी 16 प्रतिशत बढ़ गए।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वहीं प्याज तथा फलों पर मुद्रास्फीति दबाव जुलाई महीने में घटा। फलों के मामले में मुद्रास्फीति घटकर 0.15 प्रतिशत तथा प्याज के दाम 9.81 प्रतिशत घट गए। गैर-खाद्य जिंसों में फाइबर की मुद्रास्फीति 5.89 प्रतिशत, बिनौला 25.22 प्रतिशत तथा खनिजों की 8.43 प्रतिशत रही।