GST की दरों में बदलाव पर सलमान खुर्शीद ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा-इसे लागू करने में बहुत जल्दबाजी की गई

जीएसटी की दरों में बदलाव करने पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने केंद्र की भाजपा सरकार की आलोचना की.

GST की दरों में बदलाव पर सलमान खुर्शीद ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा-इसे लागू करने में बहुत जल्दबाजी की गई

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • सलमान खुर्शीद ने केंद्र की भाजपा सरकार की आलोचना की
  • उन्होंने कहा कि जीएसटी लागू करने में बहुत जल्दबाजी की गई
  • उन्होंने कहा कि पहले ही सभी त्रुटियों को दूर करना चाहिए था
शिलांग:

जीएसटी की दरों में बदलाव करने पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने केंद्र की भाजपा सरकार की आलोचना की. उन्होंने कहा कि केंद्र जीएसटी के मामले में बहुत जल्दी में था. इसलिए वह नियमों में रोज-रोज बदलाव कर रहा है.

यह भी पढ़ें : कारोबारियों को राहत, जुलाई की देरी से भेजी गई GST रिटर्न पर नहीं देनी होगी पेनल्टी

वरिष्ठ कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने कहा, रोज बदलाव कर आप (भाजपा) सरकार नहीं चला सकते हैं. आपको गंभीरता पूर्वक विचार करना चाहिए. मेरा व्यक्तिगत विचार है कि इस सरकार की अर्थव्यवस्था बिल्कुल जीरो है. उन्होंने कहा, हम एकदम नीचे आ चुके हैं और यह ऐसा कुछ नहीं है कि आप इसे एक रात में फिक्स कर दें. इसे फिक्स करने में बहुत अधिक समय लगता है और जब अर्थव्यवस्था में गिरावट आती है तो इसे फिक्स करना बड़ा कठिन होता है.

यह भी पढ़ें : जीएसटी के बाद गोवा का टैक्स कलेक्शन 22 प्रतिशत घटा

यह पूछे जाने पर कि जीएसटी जैसा महत्वपूर्ण निर्णय जल्दबाजी में क्यों लिया गया. खुर्शीद ने कहा, कृपया मुझे यह बताएं कि दो महीने पहले लागू किए गए जीएसटी में शुक्रवार शाम क्यों बदलाव किया गया. अगर कोई त्रुटि है तो इसे ठीक करिये, लेकिन यह त्रुटि पहले होनी ही क्यों चाहिए थी. 

VIDEO: नेशनल रिपोर्टर: जीएसटी परिषद की बैठक में छोटे कारोबारियों को राहत

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

कांग्रेस नेता ने कहा,  क्योंकि आप जल्दी में थे कि मुझे यह करना है, इसलिए मैं इसकी घोषणा आज कर रहा हूं. सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर तैयार नहीं था. आर्थिक मामलों के जानकार जीएसटी की आलोचना कर रहे हैं, खुर्शीद ने कहा, उन्होंने इसमें बदलाव किया है क्योंकि चुनाव आ रहे हैं. उन्होंने महसूस किया कि व्यापारी समुदाय बहुत नाखुश है. उन्होंने यह भी महसूस किया कि अन्य लोग भी नाराज हैं और इसलिए उन्होंने एक बार फिर इसे बदल दिया.

इनपुट: भाषा