नेताओं को नसीहत, 14 शख्सियतों का खुला ख़त

खास बातें

  • ख़त के मुताबिक देश को सबसे ज्यादा नुकसान भ्रष्टाचार से पहुंच रहा है जिससे युद्धस्तर पर तुरंत पूरी ताकत के साथ लड़ा जाना चाहिए।
नई दिल्ली:

घोटालों और भ्रष्टाचार से घिरी सरकार को देश के कुछ जाने−माने उद्योगपतियों और दूसरे क्षेत्रों से जुड़ी हस्तियों ने नसीहत दी है। सरकार को लिखे एक खुले ख़त में उसे अपना कामकाज़ सुधारने की नसीहत देते हुए चार अहम बातें कही गई हैं जिन पर सरकार को तुरंत ध्यान देना चाहिए। खत में कहा गया है कि देश में हर क्षेत्र में कामकाज़ अब ढीला हो गया है। सत्ता पर बैठे लोगों की ये पहली ज़िम्मेदारी है कि वे भारतीयों के अपने और अपने देश में विश्वास को कायम करें। ख़त के मुताबिक देश को सबसे ज्यादा नुकसान भ्रष्टाचार से पहुंच रहा है जिससे युद्धस्तर पर तुरंत पूरी ताकत के साथ लड़ा जाना चाहिए। ख़त में तीसरी बात ये कही गई है कि जनता के नुमाइंदे विरोध और रुकावट डालने के बीच फर्क समझें। गठबंधन के इस दौर जनता के नुमाइंदों को अपनी ज़िम्मेदारी समझनी चाहिए। ये भी कहा गया है कि विकास का फायदा देश के ग़रीब लोगों तक नहीं पहुंच पा रहा है। इसकी वजह एक पर्यावरण से जुड़ी चिंताओं को बताया गया है जिन्हें लेकर राज्य और केंद्र स्तर तक लोग एक राय नहीं हैं। ख़त में 14 जाने-माने लोगों के दस्तख़त हैं जिनमें अजीम प्रेमजी, केशव महिंद्रा, दीपक पारेख और डॉ. बिमल जालान आदि शामिल हैं।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com