NDTV Khabar

महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस की टो टूक, पेट्रोल और डीजल पर लग रहे राज्य सरकार के करों में हम पहले ही कर चुके हैं कटौती

देश में तेल कंपनियां अंतरराष्ट्रीय बाजार में बढ़ते कच्चे तेल के दाम के चलते देश में लगातार पिछले दो हफ्तों से पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ाती जा रही हैं और सबसे ज्यादा पेट्रोल के दाम की रिपोर्ट महाराष्ट्र के शहरों से ही आ रही हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस की टो टूक, पेट्रोल और डीजल पर लग रहे राज्य सरकार के करों में हम पहले ही कर चुके हैं कटौती

महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस ने पेट्रोल-डीजल पर दिया बयान.

खास बातें

  1. महाराष्ट्र में तेल के दाम सबसे ज्यादा नजर आ रहे हैं
  2. ऐसे में सीएम फडणवीस का यह बयान सामने आया है
  3. लोग करों में कटौती की उम्मीद कर रहे हैं.
नई दिल्ली:

देश में तेल कंपनियां अंतरराष्ट्रीय बाजार में बढ़ते कच्चे तेल के दाम के चलते देश में लगातार पिछले दो हफ्तों से पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ाती जा रही हैं और सबसे ज्यादा पेट्रोल के दाम की रिपोर्ट महाराष्ट्र के शहरों से ही आ रही हैं. मुंबई में पेट्रोल 85 रुपये प्रति लीटर के पार चला गया है और महाराष्ट्र के परभणी में 87 रुपये प्रति लीटर के दाम से पेट्रोल मिल रहा है. ऐसे में महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस (एएनआई के अनुसार) ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार पहले ही पेट्रोल और डीजल पर लग रहे राज्य सरकार के करों में कटौती कर चुकी है. अब जो दाम ऊपर जा रहे हैं वह अंतरराष्ट्रीय बाजार में बढ़ते दामों का असर है. हम जीएसटी काउंसिल की बैठक में  पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के भीतर लाने के लिए आम राय की कोशिश करेंगे.

पढ़ें- लगातार 11 वें दिन बढ़ी कीमतें : महाराष्ट्र के परभणी में पेट्रोल पहुंचा 87.27 रुपये प्रतिलीटर, जानिए अपने शहर का क्या है हाल


उल्लेखनीय है केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री शिवप्रताप शुक्ला ने बुधवार को कहा था, "कच्चा तेल आयातित होता है. विदेशी कंपनियां कीमतें बढ़ा रही हैं. पेट्रोलियम मंत्रालय कह चुका है कि पेट्रोल तथा डीज़ल को GST के दायरे में लाया जाना चाहिए, लेकिन मुद्दा यह है कि इस प्रस्ताव को GST काउंसिल के समक्ष तब तक नहीं लाया जा सकता, जब तक सभी राज्यों के वित्त मंत्रालय इसे मंज़ूरी न दें." देश में पेट्रोल के दाम करीब 12 दिनों से लगातार बढ़ते जा रहे हैं. लोगों में इस बात से नाराजगी बढ़ती जा रही है कि सरकार कोई कदम नहीं उठा रही है जिससे उन्हें सीधे लाभ मिले.

पढ़ें- पेट्रोल के दाम पर पहले तमाशा बनाती थी अब खुद डाका डाल रही सरकार : गहलोत

वहीं, कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने तेल की लगातार बढ़ती कीमतों को लेकर केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया है. पूर्व वित्त मंत्री ने दावा किया कि तेल की कीमतें 25 रुपये प्रति लीटर तक कम की जा सकती हैं, लेकिन सरकार अपने फायदे के लिए कीमतें कम नहीं कर रही. 

पढे़ं- मोदी सरकार के गले की फांस बनती जा रही पेट्रोल-डीज़ल की बढ़ती कीमतें

इस मुद्दे पर जानकारों का कहना है कि पेट्रोलियम उत्पादों को जीएसटी की दायरे में लाने से पेट्रोल के दाम वर्तमान की दर से करीब 30 रुपये प्रतिलीटर सस्ते हो जाएंगे. जीएसटी में अधिकतम दर यानी 28 फीसदी की दर से भी यदि टैक्स लगेगा तब भी लोगों को इसका फायदा मिलेगा. वर्तमान में पेट्रोल की कीमत जो आम आदमी चुकाता है उस पर करीब आधा कर के रूप में दिया जाता है. यानी करीब 50 फीसदी जनता टैक्स देती है. जीएसटी लागू हो जाने पर यह 50 से सीधे 28 फीसदी रह जाएगा और कीमत कम हो जाएगी. 

पढ़ें - पेट्रोल डीजल के बाद अब लग सकता है बिजली के बढ़े दामों का झटका

टिप्पणियां

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि सरकार पेट्रोल, डीजल के दाम में लगातार होने वाले बदलाव और बढ़ते दाम को लेकर दीर्घकालिक समाधान पर काम कर रही है. पेट्रोल , डीजल के दाम लगातार 10 वें दिन बढ़े थे. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार ने पिछले साल जून में हर पखवाड़े पेट्रोल, डीजल के दाम में संशोधन की 15 साल पुरानी व्यवस्था को समाप्त कर अंतरराष्ट्रीय बाजार की घटबढ़ के अनुरूप हर दिन दाम में फेरबदल की शुरुआत की. यह व्यवस्था हाल के दिनों में ठीकठाक चली लेकिन चुनाव के दिनों में मतदान से कुछ दिन पहले इसपर रोक लगा दिया जाता है. 


हाल में कर्नाटक विधानसभा चुनावों से पहले 19 दिन दाम में दैनिक संशोधन की व्यवस्था को रोक दिया गया. जैसे ही मतदान समाप्त हुआ उसके बाद 14 मई के बाद अब तक पिछले नौ दिन में पेट्रोल का दाम 2.54 रुपये और डीजल का दाम 2.41 रुपये लीटर बढ़ चुका है. 



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement