NDTV Khabar

'मेक इन इंडिया' ट्विटर पर गलत संदेश से अफरा-तफरी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'मेक इन इंडिया' ट्विटर पर गलत संदेश से अफरा-तफरी
नई दिल्ली: सरकार के 'मेक इन इंडिया' ट्विटर हैंडल पर आज भूल से कारों और दो पहिया वाहनों पर उत्पाद शुल्क कटौती की खबर से माइक्रोब्लॉगिंग साइट पर चर्चा रही। हालांकि बाद में गलती को सुधार लिया गया।

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय द्वारा संचालित ट्विटर हैंडल '@makeinindia’ पर दोपहर में छोटी, बड़ी और मध्यम आकार कारों के साथ दो पहिया वाहनों पर उत्पाद शुल्क में 3 से 4 फीसदी कटौती की खबर पोस्ट की गई।

इस ट्वीट को लेकर लोगों में रुचि थी, क्योंकि इससे पहले, 10 महीने से अधिक समय से जारी उत्पाद शुल्क छूट 31 दिसंबर को समाप्त कर दी गई थी। इसके कारण कार कंपनियों ने दाम बढ़ाने शुरू कर दिए हैं।

ट्विटर पर दिए संदेश में कहा गया है, 'छोटी कारों और दो पहिया वाहनों पर उत्पाद शुल्क चार फीसदी, बड़ी कारों पर तीन फीसदी और मंझोले आकार की कारों पर चार फीसदी कम किया गया है।' खबर फैलने के करीब पांच घंटे बाद ट्विटर पर दिए संदेश को ठीक किया गया और कहा कि यह उत्पाद शुल्क 31 दिसंबर 2014 तक वैध थे।

इस बारे में संपर्क किए जाने पर राजस्व सचिव शक्तिकांत दास ने कहा कि ट्विटर पर दिया गया 'न्यूज फ्लैश' 'गलत' था।

इससे पहले, ट्विटर पर सुबह कहा गया था कि वह कुछ प्रोत्साहनों को सूचीबद्ध कर रहे हैं जो देश के विनिर्माण उद्योग को गति देगा। बाद में दोपहर में उत्पाद शुल्क में कटौती का संदेश दिया गया।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement